31.2 C
Chhattisgarh

भारत बंसियों का विश्व पटल पर डंका

Breaking Newsभारत बंसियों का विश्व पटल पर डंका

भारत बंसियों का विश्व पटल पर डंका

नीतिन मेहता 

india ऋषि सुनक की मजबूत दाबेदारी

india ब्रिटिश प्रधान मन्त्री के पद की दौड़ भारतीय मूल के ऋषि सुनक की मजबूत दाबेदारी से एक बार फिर भारत बंसियों का बिश्ब पटल पर प्रभुत्व सामने आया है / ऋषि सुनक के माता पिता केन्या के नागरिक थे जोकि मुलत भारत से जा कर केन्या बस गए थे इसलिए ऋषि सुनक को सच्चे अर्थों में भारत बंसी माना जा सकता है !

india भारत बंसियों के महत्वपूर्ण पदों पर आसीन होना महज इंग्लैंड तक ही सीमित नहीं है बल्कि पिछले कुछ सालों के दौरान पुरे बिश्व के 15 देशों में 200 भारत बंसियों अपनी मेहनत और समर्पण की बजह से राजनीती , समाज सेवा आदि अनेक क्षेत्रों में ऊँचे प्रतिष्ठित पदों को सुशोभित किया है / भारत मूल की लिसा सिंह पहली अप्रबासी महिला थी जोकि ऑस्ट्रेलिया के तस्मानिया प्रान्त में सीनेटर चुनी गयी / उसके पूर्बज पश्चिम बंगाल से चीनी के फार्म में नौकरी के लिए फिजी आए थे / लिसा सिंह बर्तमान में मेलबोर्न आधारित ऑस्ट्रेलिया –इंडिया इंस्टिट्यूट में निदेशक हैं / लिसा सिंह ने ऑस्ट्रेलिया —भारत -जापान -अमेरिका के बीच सामरिक महत्वों के बिषयों पर इंडो –पैसिफ़िक क्षेत्र की सुरक्षा के लिए गठित “क्वाड” (QUAD ) में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की !

india भारतीय मूल के सर आनन्द सत्यानन्द बर्ष 2006 से बर्ष 2011 तक न्यूज़ीलैंड के 19 बें गवर्नर —जनरल रहे ! उन्होंने एक सफल बकील , जज और लोकपाल की भूमिका भी अदा की ! उनके पूर्बज बर्ष 1911 में गन्ने की खेती के लिए फिजी आये जहां से बह न्यूज़ीलैंड चले गए !

india सर आनन्द सत्यानन्द का कहना है की भारतबंसी लगभग दो सौ साल पहले न्यूज़ीलैंड आये थे लेकिन बह अब तक भी दो सौ साल से अपने साथ लाई भारतीय सांस्कृति और परम्पराओं को सहेज कर रखे हैं ! समृद्ध देश कनाडा में अनेक भारतियों ने सामाजिक आर्थिक क्षेत्रों में ऊँची छलांग लगाई है जिसमे से भारतीय मूल की राजनेता अनीता आनन्द राष्ट्रीय रक्षा मन्त्री के पद पर आसीन हुई !

india फिजी की 38 % जनसंख्या भारत मूल की है जोकि ब्रिटिश काल में चीनी मीलों में मुख्यता नौकरी करने के मकसद से फिजी पहुंचे थें ! भारतीय मूल के महिंदर चौधरी अनेक प्रतिष्ठित पदों को सुशोभित करने के बाद फिजी के पहले भारतीय मूल के प्रधान मन्त्री बन गए ! फिजी की राजनीती में भारत बंसियो की अच्छी पकड़ और धाक मानी जाती है !

india  गुयाना गणराज्य में 40 प्रतिशत जनसंख्या भारत मूल की है और देश के उप राष्ट्रपति भारत जगदेओ भारत बंसी हैं ! उनके अलावा भी अनेक प्रवासी भारतीय गुयाना की राजनीति में ऊँचे पदों पर विराजमान हैं !

त्रिनिदाद और टोबैगो की कुल जनसंख्या में 37 प्रतिशत भारतीय मूल की जनसंख्या है और कमला प्रसाद बिसेसर वर्ष 2010 से वर्ष 2015 तक देश .के प्रधानमंत्री रहे !
सूरीनाम में भारत बंसियों की संख्या कुल जनसंख्या का लगभग 27 . 4 प्रतिशत है और बह देश में सबसे बड़ा नस्ली समूह है ! भारतीय मूल के प्रताप राधकृष्ण देश के प्रधान मन्त्री और चान संतोखी देश के राष्ट्रपति रह चुके हैं !

अनेक भारत बंसी मॉरिशस में प्रधान मन्त्री / राष्ट्रपति और अन्य ऊँचे पदों पर बिराजमान रहे हैं मॉरिशस की राजनीती में भारतबांसियों का लम्बे समय से दबदबा है ! भारत बंसी सूरकडो मॉरिशस की आज़ादी के आन्दोलन के जन नायक माने जाते हैं ! भारतीय मूल में वैवेल रामकलावन बर्ष 2020 से सेशेल्स के राष्ट्रपति के पद पर आसीन है !

india भारतीय मूल के परवीन जमनादास गोरधन दक्षिण अफ्रीका में कैबिनेट मन्त्री के पद पर रहे ! बह बर्ष 2009 से बर्ष2014 तक देश के बित मन्त्री , बर्ष 2015 से बर्ष 2017 तक देश के सहकारिता मन्त्री तथा फरबरी 2018 से पब्लिक एंटरप्राइज के मन्त्री हैं
पूर्बी अफ्रीकी देशों केन्या ,यूगांडा और तंज़ानिया में भारतीय समुदाय समाज के हर क्षेत्र में अपना प्रभुत्व रखता है।! भारतीय मूल के बिद्वान और संबिधान बिषेषज्ञ यश पाल गुलाटी ने लगभग बीस देशों के संबिधान बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है ! बह केन्या के संबिधान समीक्षा समिति के अध्यक्ष भी रहे
अमेरिका के राष्ट्रपति श्री जोए बिडेन ने भारतीय मूल के 17 नागरिकों को अमेरिकी प्रशासन में महत्वपूर्ण अहोदों पर तैनात किया है जिसमे उपराष्ट्रपति कमला हैर्रिस भी शामिल है / विनय रेड्डी राष्ट्रपति के भाषण लेखन के निदेशक हैं!
.इसके अलाबा भारत बंसी अनेक देशों में राजदूत , हाई कमिश्नर के पदों पर कार्यरत है जिसमे से कनाडा के भारत में राजदूत नादिर पटेल भी शामिल हैं!

also read : Guru गुरु अमर दास की जयंती के अवसर पर आयोजित समारोह में किसान नेता योगेश तिवारी हुए शामिल
भारत बंसियों ने पुरे बिश्व में अपनी मेहनत , समर्पण , लगन के बल पर राजनैतिक , सामाजिक , शिक्षा , स्वास्थ्य सहित अनेक क्षेत्रों में अथाह योगदान देकर देश बसियों का मान सम्मान बढ़ाया है जिससे पुरे बिश्ब में भारतीयों को इज्जत और सम्मान की नज़र से देखा जाता हैं!
लेखक नीतिन मेहता लंदन में आधारित इंडियन वेजीटेरियन सोसाइटी के संस्थापक अध्यक्ष हैं और पूरे विश्व में भारतीय संस्कृति के ध्वजवाहक हैं !

also read : https://jandhara24.com/news/106250/rtos-action-on-shriram-transport-company-license-suspended-for-selling-tax-due-vehicles/

Check out other tags:

Most Popular Articles