aajkijandhara

Transfer ट्रांसफर के नाम पर महिला कर्मचारी को अपने पास बुलाने का ऑडियो सोशल मिडिया पर वायरल

(Government of Chhattisgarh) छत्तीसगढ़ सरकार की राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को लेकर उबाल पर सियासी पारा

(Government of Chhattisgarh)

(Government of Chhattisgarh)  राज्य सरकार से रासुका वापिस लेन राज्यपाल के नाम तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

 

(Government of Chhattisgarh)  खरोरा – बस्तर में धर्मांतरण को लेकर मचे बवाल के बीच छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) लगाये जाने की अधिसूचना जारी करते ही पुरे प्रदेश में सियासी पारा चढ़ गया है। राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी भाजपा सहित विभिन्न हिन्दू संगठनों से जुड़े लोगों व्दारा इस नये क़ानून का विरोध किया जा रहा हैं।

(Government of Chhattisgarh)  आज भाजपा रायपुर ज़िला ग्रामीण व्दारा इस क़ानून के ख़िलाफ़ एक दिवसीय ज़िला स्तरीय धरना प्रदर्शन कार्यक्रम खरोरा के पंडित दिनदयाल तिगड्डा चौक में किया गया। इस दौरान पुर्व विधायक देवजी भाई पटेल ने कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुवे कहा की ये रासुका कांग्रेस सुरक्षा कानून है जो कांग्रेस को सुरक्षा देने के लिया बनाया गया हैं !

(Government of Chhattisgarh)   पटेल ने इसे लोकतंत्र विरोधी कानून बताया, उन्होंने कहॉ की यह क़ानून पुलिस को इतने अधिकार देती है कि किसी भी व्यक्ति को एक साल तक बिना कारण बताए जेल में रखा जा सकता है।

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पुर्व ज़िला पंचायत अध्यक्ष लक्ष्मी बघेल ने रासुका को कांग्रेस का जन विरोधी कानून बताया उन्होंने कहॉ की इस क़ानून के ज़रिए कांग्रेस प्रदेश भर में दबाव की राजनीति कर रही है !

(Government of Chhattisgarh)  उन्होंने कहॉ की रासुका का जोरदार विरोध किया जाएगा और पूरे प्रदेश में भाजपा व्दारा धर्मांतरण और रासुका के ख़िलाफ़ लड़ाई लड़ीं जायेगी।

भाजपा ज़िला अध्यक्ष अनिमेष कश्यप ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर धर्मांतरण कराने वालो को संरक्षण देने का आरोप लगाया, उन्होंने कहॉ की छत्तीसगढ़ में धड़ल्ले से धर्मांतरण हो रहा हैं, राज्य सरकार को धर्मांतरण के ख़िलाफ़ क़ानून बनाना चाहिए था किंतु इन्होंने धर्मांतरण कराने वालो को संरक्षण देने का क़ानून बना डाला।

भाजपा ज़िला प्रभारी प्रह्लाद रजक ने इस कानून को पूरी तरह से बेबुनियाद बताया है उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल प्रदेश में एमरजेंसी लगाने के संकेत दे रही है। नगर पंचायत अध्यक्ष अनिल सोनी ने मुख्यमंत्री भूपेश पर छत्तीसगढ़ीया स्वाभिमान और अस्मिता की रक्षा का वाद कर सत्ता हथियाने का आरोप लगाया, उन्होंने कहॉ की कुछ लोगों व्दारा छत्तीसगढ़ के भोले भाले आदिवासीयो को ज़बरीया धर्मांतरण कराया जा रहा हैं राज्य सरकार को आदिवासीयो के संरक्षण में क़ानून बनाना था किंतु कांग्रेस सरकार व्दारा रासुका कानून ला कर आदिवासियों की अस्तित्व को खत्म करने का प्रयास किया जा रही है।

(Government of Chhattisgarh)  उक्त कार्यक्रम के दौरान प्रमुख रूप से भाजपा ज़िला अध्यक्ष अभिनेश कश्यप, पुर्व देवजी भाई पटेल, प्रदेश उपाध्यक्ष लक्ष्मी बघेल, ज़िला प्रभारी प्रहलाद रजक, सहप्रभारी डेनिस चंद्राकर, नपं अध्यक्ष अनिल सोनी, पिछडा वर्ग प्रदेश मंत्री अशोक सिन्हा, जिला महामंत्री अनिल अग्रवाल, श्याम नारंग, अरविंद ठाकुर, रुकमणी वर्मा,

डोगेन्द्र नायक, अंजय शुक्ला, पार्षद तोरण ठाकुर, रोबिन साहू, विकास ठाकुर, बुद्धेश्वर वर्मा, दुलेश साहू, दिपक धनकर, नंदनी साहू, संतोष शुक्ला, रुकमणी वर्मा, सुनील शर्मा, राकेश यादव, रॉबिन साहू, लखन लाल साहू, लक्ष्मी नारायण, चेतना गुप्ता, सविता चंद्राकर, बिंदा देवहरे, स्वाति वर्मा, शिव शंकर वर्मा, घनश्याम चंद्राकर, छगन यादव, डोमार धुरंधर, आयुष वर्मा,

पंचराम यादव, परस नायक, रामअवतार वर्मा, रमेश बघेल, पुनाराम वर्मा, प्रियंक सोनी, दुर्गेश चंदेल, दिवाकर चंदेल, कैलाश चंद्र सिरमौर, नेतराम धीवर, देवनाथ साहू, सुर्या चेलक, नितेश सहित भारी संख्या में लोग उपस्थित थे।

1 thought on “(Government of Chhattisgarh) छत्तीसगढ़ सरकार की राष्ट्रीय सुरक्षा कानून को लेकर उबाल पर सियासी पारा”

  1. Pingback: (Bilaspur Breaking) आयरन की दवा खाकर बीमार हो गए 16 स्कूली बच्चे, देखिये Video - aajkijandhara

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *