aajkijandhara

Transfer ट्रांसफर के नाम पर महिला कर्मचारी को अपने पास बुलाने का ऑडियो सोशल मिडिया पर वायरल

(laser hair removal treatment) लेजर हेयर रिमूवल ट्रीटमेंट क्या है? आइये जानते है

(laser hair removal treatment)

(laser hair removal treatment) लेजर हेयर रिमूवल ट्रीटमेंट क्या है? जानिए इससे जुड़े फायदे और नुकसान

(laser hair removal treatment) शरीर से अनचाहे बालों को हटाने के लिए शेविंग, वैक्सिंग, थ्रेडिंग जैसे पारंपरिक तरीके अपनाए जाते हैं, लेकिन इनमें अधिक समय और मेहनत लगने के कारण अब पेशेवर लोग लेजर हेयर रिमूवल ट्रीटमेंट पर फोकस करने लगे हैं। इसमें इस्तेमाल होने वाली लेजर बीम भाप के जरिए सीधे रोमछिद्रों से बाल साफ करती है। आइए जानते हैं कि यह ट्रीटमेंट कितना प्रभावी है।

क्या सुरक्षित है लेजर हेयर रिमूवल ट्रीटमेंट?

(laser hair removal treatment)  लेजर हेयर रिमूवल ट्रीटमेंट सुरक्षित और प्रभावी है। यह अनचाहे बालों को बढऩे से रोकने में मदद कर सकता है। इसमें वैक्सिंग की तुलना में दर्द भी नहीं होता है। हालांकि, इसके लिए आपको कई सेशन लेने पड़ सकते हैं। अगर आप यह ट्रीटमेंट लेना चाहते हैं तो पहले किसी त्वचा रोग विशेषज्ञ सलाह जरूर लें। इसका कारण है कि यह हर किसी को सूट नहीं करता है।

क्या है इस ट्रीटमेंट के नुकसान?

(laser hair removal treatment)  इस ट्रीटमेंट के बाद मामूली दुष्प्रभाव सामने आ सकते हैं। इनमें त्वचा का लाल होना और जलन होना आम है। अगर दुष्प्रभाव गंभीर हों तो तत्काल त्वचा विशेषज्ञ से संपर्क करना चाहिए। शरीर के कोमल हिस्सों से बाल हटवाते समय दुष्प्रभावों की संभावना अधिक होती है। हालांकि, इस तरह के दुष्प्रभाव बालों को हटाने की अन्य प्रक्रियाओं के बाद भी दिखाई दे सकते हैं। इससे राहत पाने के लिए प्रभावित हिस्से पर आइस पैक लगाएं।

ट्रीटमेंट के गंभीर दुष्प्रभाव

त्वचा का रंग बदलना: हाल ही में सनटैन कराने वालों में इसका खतरा अधिक रहता है। पेरडाक्सिकल हेयर ग्रोथ: इसकी संभावना बुहत कम होती है, लेकिन कुछ लोगों में यह समस्या हो सकती है। फफोले: इस ट्रीटमेंट के तुरंत बाद धूप में जाने से त्वचा पर फफोले पडऩे का खतरा बढ़ जाता है। अगर लेजर हेयर रिमूवल ट्रीटमेंट सही तरह से न किया जाए तो भी त्वचा पर फफोले पड़ सकते हैं।

गर्भवती महिलाओं को यह ट्रीटमेंट लेना चाहिए?

विशेषज्ञों के अनुसार, गर्भावस्था में यह ट्रीटमेंट नहीं लेना चाहिए। इससे शिशु पर बुरा असर पडऩे का खतरा रहता है। हालांकि, गर्भावस्था में महिलाओं में कई हार्मोनल बदलाव होने के कारण अनचाही जगहों पर अतिरिक्त बाल उग आते हैं। ऐसे में परेशान होने की जगह गर्भवती महिलाएं डॉक्टरी सलाह से बालों को हटाने की अन्य प्रक्रियाओं को आजमा सकती हैं।

इन बातों का रखें विशेष ध्यान

इस ट्रीटमेंट से तीन दिन पहले त्वचा पर हाइड्रोक्सी एसिड, सैलिसिलिक एसिड, रेटिनोल और बेंजोइल पेरोक्साइड युक्त स्किन केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल न करें। धूप में जाने से बचें और त्वचा को माइल्ड क्लींजर से साफ करें। इसी तरह डॉक्टर की सलाह पर ही ट्रीटमेंट को लेने पर निर्णय करें। अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है तो इससे बचना ही आपके लिए सही रहेगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *