aajkijandhara

Transfer ट्रांसफर के नाम पर महिला कर्मचारी को अपने पास बुलाने का ऑडियो सोशल मिडिया पर वायरल

India drone technology ड्रोन तकनीक का हब बनेगा भारत : अनुराग

India drone technology

India drone technology

India drone technology चेन्नई . केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने मंगलवार को कहा कि भारत ड्रोन प्रौद्योगिकी का केंद्र बन जाएगा और देश को अगले साल तक कम से कम एक लाख ड्रोन पायलटों की आवश्यकता होगी।


India drone technology श्री ठाकुर ने यहां ‘ड्रोन यात्रा 2.0’ को हरी झंडी दिखाने के बाद अपने संबोधन में कहा कि प्रौद्योगिकी वास्तव में तेजी से दुनिया को बदल रही है और यह अब से अधिक प्रासंगिक कभी नहीं रही क्योंकि इसके अनुप्रयोग इस ग्रह के कुछ सबसे अधिक दबाव वाली समस्याओं को हल कर रहे हैं।


India drone technology उन्होंने कहा,“प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार टिप्पणी की थी कि ‘भारत के पास एक लाख समस्याओं के लिए अरबों समाधान हैं। एक अरब से अधिक लोगों के देश के रूप में, भारत को वक्र रेखा से आगे रहने के लिए प्रौद्योगिकी का तेजी से लाभ उठाना होगा।”


भारत में ड्रोन प्रौद्योगिकी में हुई प्रगति का विवरण देते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बीटिंग रिट्रीट के दौरान आईआईटी के पूर्व छात्रों के नेतृत्व में भारतीय स्टार्ट-अप ‘बोटलैब डायनेमिक्स’ की ओर से 1,000 ‘मेड इन इंडिया’ ड्रोन के शानदार प्रदर्शन से पूरा देश मंत्रमुग्ध हो गया था।


India drone technology उन्होंने कहा कि स्वामित्व योजना (गांवों का सर्वेक्षण और गांव के इलाकों में कामचलाऊ तकनीक के साथ मानचित्रण) के तहत गांवों में ड्रोन के माध्यम से भूमि और घरों का सर्वेक्षण तैयार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गांवों में खेतों में कीटनाशकों और नैनो उर्वरक के छिड़काव के लिए ड्रोन का तेजी से इस्तेमाल किया जा रहा है।


ठाकुर ने प्रधानमंत्री की ओर से उद्घाटित ‘किसान ड्रोन यात्रा’ की चर्चा करते हुए कहा कि इसके तहत गांवों में कीटनाशकों का छिड़काव के लिए गांवों में 100 ड्रोन भेजे गये। उन्होंने कहा,“किसान ड्रोन अब इस दिशा में एक नए युग की क्रांति की शुरुआत है।”


India drone technology केंद्रीय खेल मंत्री ने कहा कि हाल ही में, नागरिक उड्डयन मंत्रालय (एमओसीए) और नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को भारत क्रिकेट सत्र 2021 के लाइव एरियल सिनेमैटोग्राफी के लिए ड्रोन की तैनाती के लिए सशर्त छूट दी थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *