aajkijandhara

Transfer ट्रांसफर के नाम पर महिला कर्मचारी को अपने पास बुलाने का ऑडियो सोशल मिडिया पर वायरल

Bemetara news today सामान्य वर्ग के अधिकारों के हनन के विरूद्ध जन आक्रोश आंदोलन

Bemetara news today

Bemetara news today सैकड़ों की संख्या में बेमेतरा से पदयात्रा कर ज्ञापन देने जायेंगे रायपुर

Bemetara news today बेमेतरा– केन्द्र द्वारा सन् 2019 मे संविधान संशोधन के तहत ई.डब्ल्यू.एस.(आर्थिक रूप से कमजोर) सामान्य वर्ग के लोगों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण करने का प्रावधान किया गया है जिसमे केन्द्र द्वारा राज्यों को आदेशित भी किया गया है लेकिन छत्तीसगढ़ राज्य सरकार द्वारा गत दिनो आरक्षण संबंधित विशेष सत्र बुलाकर उक्त वर्ग के आरक्षण मे कटौती कर 4 प्रतिशत कर दिया गया है जो न्याय संगत नही है सामान्य वर्ग के लोगों मे भारी रोश ब्याप्त है।

https://jandhara24.com/news/130514/the-team-arrived-before-becoming-a-girl-bride-stopped-the-marriage/
Bemetara news today बेमेतरा के हास्य व्यंग्य कवि रामानन्द त्रिपाठी एवम समाज प्रमुखों के प्रतिनिधि मंडल द्वारा जिसमे सर्वब्राह्मण समाज के उपप्रांताध्यक्ष लेखमणी पांण्डेय, जिलाध्यक्ष जितेन्द्र शुक्ला, सरयुपारी ब्राम्हण समाज बेमेतरा अध्यक्ष अजय शर्मा,वरिष्ठ पत्रकार संजय दुबे, भरत मिश्रा, लाला तिवारी, गिरीश मिश्रा, रमेश नंदवाना, विक्की चौबे सहित अनेको लोग बेमेतरा कलेक्टर को सूचनार्थ ज्ञापन दिये ।जिसमे दिनांक 12 दिसम्बर 2022 दिन सोमवार को दोपहर 2 बजे परशुराम चौक बेमेतरा से सैकड़ों की संख्या मे सामान्य वर्ग के लोग पदयात्रा कर रायपुर राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ को ईस हेतु ज्ञापन देने जायेंगे।

Bemetara news today
Bemetara news today सामान्य वर्ग के अधिकारों के हनन के विरूद्ध जन आक्रोश आंदोलन

Bemetara news today त्रिपाठी जी एवं समाज प्रमुखों ने बेमेतरा जिला के सभी सामान्य वर्ग के लोगों को ईस पदयात्रा मे सम्मिलित होकर अपनी हक की मांगे रखने के लिए रायपुर जाने के लिए निवेदन किये हैं जिसमे ( ब्राह्मण, ठाकुर, बनिया, पंजाबी, सिंधी तथा अन्य वर्ग) सम्मिलित है ।

Backbone of youth युवा देश की रीढ़ की हड्डी : जिला स्तरीय युवा महोत्सव बौद्धिक, खेल एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिता में गीदम विकासखंड रहा अव्वल
Bemetara news today प्रतिनिधि मंडल का कहना है कि हम किसी भी वर्ग विशेष के आरक्षण के खिलाफ नही हैं लेकिन हमारी यह मांग है कि केन्द्र द्वारा पारित किया गया आर्थिक रूप से सामान्य वर्ग के कमजोर लोगों के आरक्षण को कटौती कर 4 प्रतिशत राज्य सरकार द्वारा किया गया है उसे पुनः विशेष सत्र बुलाकर 10 प्रतिशत किया जाये तथा संपूर्ण आरक्षण के पश्चात बचत संख्या को केवल सामान्य वर्ग को ही अवसर दिया जाए ईसमे अन्य वर्गों की सहभागिता नही रहना चाहिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *