aajkijandhara

Transfer ट्रांसफर के नाम पर महिला कर्मचारी को अपने पास बुलाने का ऑडियो सोशल मिडिया पर वायरल

Temporary knot अस्थाई गौठान में चारा और पानी का इंतजाम नहीं , भूख से मर रहे मवेशी

Temporary knot

भुवनेश्वर प्रसाद साहू

Temporary knot कसडोल से 5 किमी. दूर सिंघारी गांव का मामला
Temporary knot चरवाहा बोले – 4 मवेशियों की हो चुकी मौत

Temporary knot कसडोल ! छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के विकास के लिए अनेक महत्वपूर्ण योजनाएं संचालित की जा रही है !

Temporary knot योजनाओं के तहत लाखों करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं , लेकिन जिस उद्देश्य की पूर्ति के लिए योजना लागू की गई ,उसकी पूर्ति नहीं हो पा रही है ! छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वाकांक्षी योजना नरवा गरवा घुरवा बाड़ी का कई गांव में हाल बुरा है ! कहीं गौठान अधूरा है , तो कहीं बेजुबान मवेशी मर रहे हैं !

जनपद पंचायत बलौदाबाजार के अंतर्गत आने वाली लवन तहसील क्षेत्र और कसडोल तहसील से पांच किमी. की दूरी पर गांव सिंघारी है !

Temporary knot यहां का गौठान निर्माण अधूरा है ! अधूरा गौठान होने की वजह से यहां पदस्थ सरपंच , सचिव और ग्रामीणाें के द्वारा गांव के खाली जगह को अस्थाई रूप से चारों तरफ से जाली तार का घेरा बना कर आवारा मवेशियों को रखा गया है ! जहां मवेशियों के लिए चारा -पानी की व्यवस्था नहीं है ! इसके कारण मवेशी भूख प्यास से कमजोर होकर मर रहे हैं !

Temporary knot 18 नवंबर 2022 दिन शुक्रवार शाम को दो मवेशियों की मौत भूख प्यास से हो गई तथा एक मवेशी मरने के कगार पर है ! लगातार सिंघारी के इस अस्थाई गोठान में आवारा बेजुबान मवेशियों की मौत हो रही है ! इसका जिम्मेदार आखिर कौन है ?

वही मरे हुए इन आवारा मवेशियों को नदी किनारे व अस्थाई गौठान के गड्ढों में फेंका जा रहा है ! जिम्मेदारों के द्वारा मरे हुए मवेशियों को जीवित मवेशियों के पास ही फेंक देने से बाकी मवेशियों में बीमारी हो रही है !

Temporary knot बीमारी की वजह से असमय मवेशियों की मौत हो रही है और जिम्मेदार ठंड से मौत हो रही है , कह कर अपनी जिम्मेदारियों से बच रहे हैं ! जिम्मेदारों के द्वारा बाकी जीवित रखे हुए मवेशियों के पास ही मरे हुए मवेशियों के कंकाल बिखरे पड़े हुए देखे जा सकते हैं !

पंचायत में बैठे जिम्मेदार सरपंच और सचिव कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं ! जिम्मेदारों की निष्क्रियता व सरपंच व सचिव की लापरवाही की वजह से बेजुबान आवारा मवेशियों की रोजाना मौत हो रही है ! ग्रामीणों ने सरपंच व सचिव पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि इनके द्वारा आवारा मवेशियों की देखभाल नहीं की जा रही है !

चरवाहा बोले

चारा व पानी के अभाव में अभी हाल ही में 4 मवेशियों की मौत हुई है ! इसके पहले भी 8 मवेशियों की मौत हो चुकी है ! आवारा मवेशियों को जाली तार का घेरा में ग्रामीणों के द्वारा रखा गया है! ( फूलेश यादव ,चरवाहा , ग्राम पंचायत भालूकोना )

सचिव का कहना है

ग्राम सिंघारी में गौठान निर्माण का कार्य जारी है ! यहां के ग्रामीण पंचनामा कर के अस्थाई रूप से जालीदार का घेरा कर मवेशियों को रखे हुए हैं ! पिछले दिनों जो दो मवेशी मरे हैं , वह ठंड की वजह से मरे हैं !

प्रहलाद श्रीवास ,
सचिव , ग्राम पंचायत सिंघारी

गायों की मौत पर पिछले माह ही सेल के ग्राम पंचायत सचिव को निलंबित किया गया था …

बताते चलें कि पिछले माह ही कसडोल विकासखंड से 6 किलोमीटर की दूरी पर ग्राम पंचायत सेल में गायों की मौत होने पर वहां के सचिव को निलंबित कर दिया गया था ! जिसका समाचार आज की जनधारा में कसडोल संवाददाता भुवनेश्वर प्रसाद साहू द्वारा प्रमुखता से प्रकाशित किया गया था !

क्या कहते हैं सीईओ

अभी अभी पदभार लिया हूं ! पंचायतों के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं हैं ! आपके द्वारा संज्ञान में मामला आया है ! जिसे दिखवाता हूं !
रविकुमार , सीईओ , जनपद पंचायत , बलौदाबाजार-भाटापारा

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *