31.2 C
Chhattisgarh
Tuesday, June 28, 2022

सुविधा को मजबूती DTH देने के लिए Indian communication satellite GSAT-24 का फ्रेंच गुयाना से सफल प्रक्षेपण

Breaking Newsसुविधा को मजबूती DTH देने के लिए Indian communication satellite GSAT-24 का फ्रेंच गुयाना से सफल प्रक्षेपण

चेन्नई। Indian communication satellite GSAT-24 का गुरुवार सुबह फ्रेंच गुयाना के कोरू से यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी के एरियन रॉकेट से सफल प्रक्षेपण किया गया।

भारत के 24 कू बैंड वाले इस संचार उपग्रह का वजन 4,180 किलोग्राम है।

देश में DTH सुविधा को और मजबूती देने के लिए बनाये गये

इस संचार उपग्रह को मलेशिया के संचार उपग्रह मीसैट-3 डी के साथ एरियन-5 5ए 275 उड़ान की मदद से वांछित कक्षाओ में स्थापित किया गया।

एरियनस्पेस एजेंसी की ओर से जारी बयान में कहा गया

“ Indian समयानुसार तड़के तीन बजकर 20 मिनट पर एरियन -5 ने Indian और मलेशिया के संचार उपग्रहों को लेकर फ्रेंच गुयाना के कौरू से अंतरिक्ष की उड़ान भरी

दोनों उपग्रहो को सफलतापूर्वक उनकी वांछित कक्षाओं में स्थापित किया।

ALSO READ : राष्ट्रपति चुनाव : भाजपा के आदिवासी पत्ते का दिखने लगा असर, द्रौपदी मुर्मू को मिल रहा भारी समर्थन

एरियन स्पेस एजेंसी के सीईओ स्टीफन इजरायल ने कहा कि यह 15वां उपग्रह है जिसे हमारे रॉकेट से अंतरिक्ष में पहुंचाया है ।

हमें एशिया प्रशांत महासागर के दो बड़े देशें भारत और मलेशिया के साथ काम कर हम बेहद गौरवांवित महसूस करते हैं।

GSAT-24 चार टन वजनी कू बैंड वाला एक स्तरीय संचार उपग्रह है

जो न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड (एनएसआईएल) के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा बना गया है।

एनएसआईएल इसरो की व्यवसायिक शाखा है।

इसकी मदद से बहुत बेहतर किस्म का टेलीविजन प्रसारण, टेलीकम्यूनिकेशन और रेडियो प्रसारण की सुविधा मुहैया करायी जायेंगी।

ALSO READ : आयरलैंड के लिए : 2 खतरनाक भारतीय गेंदबाज! नाम सुनकर दहशत में विरोधी टीम

एनएसआईएल ने इस उपग्रह की पूरी क्षमा मेसर्स टाटा प्ले को लीज पर दी हुई है

जो डीटीएच सेवाओं को प्रमुख प्रदाता है।

इस उपग्रह की मदद से टाटा अपने उपभोक्ताओ को बेहतर और विश्वसनीय सुविधाएं मुहैया करा सकेगा।

Check out other tags:

Most Popular Articles