You are currently viewing Revenue case घर-घर अभियान के तहत राजस्व प्रकरण का किया जा रहा निराकरण
Revenue case घर-घर अभियान के तहत राजस्व प्रकरण का किया जा रहा निराकरण

Revenue case घर-घर अभियान के तहत राजस्व प्रकरण का किया जा रहा निराकरण

Revenue case घर-घर अभियान के तहत अब तक पांच हजार से अधिक खाताधारकों से किया गया सम्पर्क

Revenue case धमतरी !   घर-घर अभियान के तहत जिले में राजस्व प्रकरण का निराकरण किया जा रहा है। कलेक्टर  पी.एस.एल्मा के मार्गदर्शन में पटवारी अपने-अपने हल्कों के सभी ग्राम में निवासरत खाताधारकों से व्यक्तिगत सम्पर्क कर रहे हैं।

Revenue case इस दौरान खाताधारकों के फौत होने की जानकारी मिलने पर उनके वारिसानों की सूची बनाकर भुईंया पोर्टल में अपलोड किया जा रहा है। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व धमतरी डॉ.विभोर अग्रवाल से मिली जानकारी के मुताबिक एक नवम्बर से शुरू हुए इस अभियान के तहत धमतरी अनुभाग के आमदी, भोथली, छाती, बठेना, धमतरी, कोलियारी और रूद्री में अब तक कुल 70 हजार 643 खाताधारकों में से पांच हजार 73 खाताधारकों से सम्पर्क किया गया। इसमें 736 जाति प्रमाण पत्र, 167 फौती नामांतरण, तीन आरबीसी 6-4 और 71 अन्य प्रकरण मिले।

Revenue case डॉ.अग्रवाल ने अपने अनुभाग के सभी पटवारियों को घर-घर फौती प्रकरण दर्ज करने के साथ ही आरबीसी 6-4, मोटरयान दुर्घटना की आर्थिक सहायता के लिए जानकारी लेते हुए आवश्यक दस्तावेज तैयार करने के निर्देश दिए हैं। इस दौरान पटवारी आवेदकों को जाति प्रमाण पत्र जारी करने के लिए भी आवश्यक दस्तावेज तहसीलदार/नायब तहसीलदार को उपलब्ध करा रहे हैं।

अन्य पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के व्यक्तियों को जाति प्रमाण पत्र के लिए आवश्यक दस्तावेज जैसे अधिकार अभिलेख/बी.1/खसरा/मिसल इसमें शामिल है। उन्हें यह भी निर्देशित किया गया है कि वे अपने-अपने हल्कों के स्कूलों में सप्ताह में कम से कम दो दिन अनिवार्य रूप से उपस्थित रहकर सभी अभ्यर्थियों के जाति प्रमाण पत्र बनाने की कार्रवाई सुनिश्चित करें।

Revenue case अनुभाग धमतरी में पटवारियों द्वारा दैनिक प्रतिवेदन भी अनुविभागीय अधिकारी कार्यालय को वॉट्सएप ग्रुप के जरिए दिया जा रहा है। इसके अलावा तहसीलदार/नायब तहसीलदार द्वारा फौती नामांतरण की कार्रवाई समय सीमा में सुनिश्चित की जा रही है और सभी खाताधारकों को आधार सीडिंग के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।

Leave a Reply