21.2 C
Chhattisgarh

Rajdhani Raipur राजधानी रायपुर में श्रीमद् बाल्मीकि रामायण कथा 28 नवंबर से प्रारंभ

Chhattisgarh NewsRajdhani Raipur राजधानी रायपुर में श्रीमद् बाल्मीकि रामायण कथा 28 नवंबर से प्रारंभ

Rajdhani Raipur राजधानी रायपुर में श्रीमद् बाल्मीकि रामायण कथा 28 नवंबर से प्रारंभ

Rajdhani Raipur राजधानी में पहली बार आयोजन, दोपहर 3 से 7 बजे के मध्य होगी कथा

Rajdhani Raipur रायपुर। श्रद्धा विश्वास समूह परिवार द्वारा आयोजित श्रीमद् बाल्मिकी रामायण कथा का आयोजन 28 नवंबर से 10 दिसम्बर के मध्य अयोध्या से आए रामानुजाचार्य स्वामी श्री वशुदेवाचार्य विद्याभास्कार महाराज अपने मुखारविंद से आरंभ करेंगे।

Rajdhani Raipur पंडित यदुवंशमणि त्रिपाठी ने प्रेस क्लब रायपुर में आयोजित पत्रकारवार्ता में जानकारी देते हुए बताया की रायपुर में प्रथम बार बाल्मीकि रामायण कथा का आयोजन किया जा रहा है तथा ये भी बताया की छत्तीसगढ़ राज्य शास्त्रों में कौशल प्रदेश के रूप में वर्णित है जो की मां कौशल्या की शास्त्र वर्णित एवं वर्तमान में प्रकट मायका एवम प्रभु श्री राम का ननिहाल है इसलिए श्री बाल्मीकि रामायण की वेद तुल्य ही प्रतिष्ठा है।

Rajdhani Raipur अयोध्या से महाराज स्वामी विद्याभास्कार एक ऐसे कथा वाचक है जी धाराप्रवाह संस्कृत में बाल्मीकि रामायण कथा बोलने का ज्ञान रखते हैं। कथा का आयोजन श्री लाल गंगा पटवा भवन टैगोर नगर संगवारी विधायक विश्रामगृह के सामने लगातार दस दिनों तक कथा का आयोजन किया जाएगा ।

Rajdhani Raipur कथावाचन दोपहर 3 बजे शाम 7 बजे के मध्य किया जाएगा। जिसमे राम दरबार की भव्यता की झांकी देखने लायक रहेगी और हवन अनुष्ठान भी लगातार प्रखंड पंडितों द्वारा होता रहेगा।

संरक्षक मंडल के सदस्य अखिलेश सिंह ने बताया की भोग भंडारा प्रसाद की व्यवस्था आने वाले भक्तों और श्रद्धालुओं के लिए सुचारू रूप से व्यवस्थित किया गया है। संचालक मंडल के सदस्य अनिल सिंह ने जानकारी देते हुए कहा कि इस बाल्मीकि रामायण कथा में लाखो की संख्या महिलाएं, बच्चे में और भक्त जनों की आने की संभावना है जिसको लेकर सुरक्षा व्यवस्था को भी दुरुस्त किया जा रहा है।

Rajdhani Raipur पुलिस प्रशासन को भी सूचित किया जा चुका है साथ पार्किंग को लेकर निजी सुरक्षा एजेंसी से संपर्क किया जा चुका है। कथा के वरिष्ठ संरक्षक ग्रामीण विधायक सत्यनारायण शर्मा, विद्या भास्कर महाराज का मंच पर स्वागत करेंगे और उनका आशीर्वाद प्राप्त करेंगे।

उपस्थित संत गणों में महामंडलेश्वर राजेश्री महंत रामसुंदर दास महाराज, डॉ. इंदु भवानंद महाराज शंकराचार्य आश्रम, डॉ. युधिष्ठिर लाल महाराज नवम पीठाधीश्वर पूज्य शदाणी दरबार जगतगुरु रामानुजाचार्य स्वामी श्रीधराचार्य महाराज तीर्थराज प्रयाग इस कथा प्रवचन में मुख्य रूप से उपस्थित रहेंगे।

Check out other tags:

Most Popular Articles