petroleum export Tax डीजल, पेट्रोल, जेट ईंधन के निर्यात पर कर लगाया सरकार ने

Tax

petroleum Tax कीमतों का असर घरेलू बाजार पर नहीं पड़ेगा

Tax
export Tax कीमतों का असर घरेलू बाजार पर नहीं पड़ेगा

petroleum export Tax नयी दिल्ली। Tax सरकार ने डीजल और पेट्रोल के export को हतोत्साहित करने के लिए इन ईंधनों के निर्यात पर उपकर लगा दिया है।

petroleum export वित्त मंत्रालय का कहना है कि यह कदम घरेलू बाजार में ईंधन की आपूर्ति बढ़ाने के लिए किया गया है और इसका घरेलू बाजार कीमतों पर असर नहीं पड़ेगा।

petroleum export Tax वित्त मंत्रालय के इस निर्णय के तहत अंतर्गत पेट्रोल के निर्यात पर 6 रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 13 रुपये प्रति लीटर की दर से उपकर लगाया गया है।

ALSO READ : plastic बैनर, फ्लेक्स और होर्डिंग्स पर आज से प्रतिबंध

यह अतिरिक्त शुल्क इन ईंधनों के किसी भी निर्यात पर लागू होगा।

petroleum Tax विमान ईंधन (एविएशन टर्बाइन फ्यूल) के निर्यात पर भी 6 रुपये प्रति लीटर का विशेष अतिरिक्त शुल्क (एसएईडी) लगाया गया है।

Tax
Tax विमान ईंधन (एविएशन टर्बाइन फ्यूल) के निर्यात पर भी 6 रुपये प्रति लीटर

export Tax  वित्त मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि हाल के महीनों में कच्चे तेल की कीमतों में तेजी से वृद्धि हुई है, लेकिन इस दौरान डीजल और पेट्रोल के भाव उससे भी तेजी से बढ़े हैं।

मंत्रालय ने यह देखा है कि कुछ तेल शोधन इकाइयां घरेलू पेट्रोल पंपों को ईंधन देने की बजाय निर्यात को प्राथमिकता दे रही हैं क्यों कि उन्हें इसमें अधिक लाभ दिख रहा है।

मंत्रालय ने कहा है , “रिफाइनर इन उत्पादों का निर्यात विश्व स्तर की कीमतों पर निर्यात करते हैं,जो इस समय घरेलू कीमतों की तुलना में बहुत अधिक हैं।

बयान में कहा गया है कि निर्यात अत्यधिक लाभकारी होने के चलते कुछ रिफाइनरी कंपनियां घरेलू बाजार में अपने पंपों को आपूर्ति कम कर रही हैं।”

मंत्रालय ने इसको देखते हुए पेट्रोल पर छह रुपये प्रति लीटर और डीजल पर 13 रुपये प्रति लीटर का उपकर लगाया है।

मंत्रालय का कहना है कि चूंकि निर्यात पर उपकर लगाया गया है, इसका डीजल और पेट्रोल की घरेलू खुदरा कीमतों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

export उपकर लगाने के अलावा, निर्यातकों को निर्यात के समय यह घोषित करने की आवश्यकता होगी कि शिपिंग बिल में उल्लिखित मात्रा का के 50 प्रतिशत के बाराबर ईंधन की चालू वित्तीय वर्ष के दौरान घरेलू बाजार में आपूर्ति कर दी गय है या की जाएगी।

वित्त मंत्रालय ने कहा, “इन उपायों से डीजल और पेट्रोल की घरेलू खुदरा कीमतों पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ेगा।

इस प्रकार, घरेलू खुदरा कीमतें अपरिवर्तित रहेंगी।

साथ ही, इन उपायों से पेट्रोलियम उत्पादों की घरेलू उपलब्धता सुनिश्चित होगी।”

https://jandhara24.com/news/104218/crores-of-rupees-recovered-in-raid-going-on-at-the-house-of-cg-breaking-advocate-and-contractor/

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

MENU