24.2 C
Chhattisgarh

Permit : बगैर अनुज्ञा पत्र के निकाला जा रहा हैं लौह अयस्क

Chhattisgarh NewsPermit : बगैर अनुज्ञा पत्र के निकाला जा रहा हैं लौह अयस्क

Permit : बगैर अनुज्ञा पत्र के निकाला जा रहा हैं लौह अयस्क

Permit : वाहन मालिक और जांच नाका के कर्मचारी के बीच विवाद

Permit : भानुप्रतापपुर।  इन दिनों अधिकारी कर्मचारी फेडरेशन अपनी मांगों को लेकर हडताल पर है। पर आरीडोंगरी माइंस प्रबंधक द्वारा इसकी जानकारी होने के बाद भी लौह अयस्क परिवहन हेतू गाड़ियों को बिना अनुज्ञा पत्र दिये लोडिंग कराया जा रहा है।

Permit : माइंस प्रबंधन कच्चे की मनमानी रवैये के चलते गाडी मालिकों को परेशानी उठानी पड़ रही है । दरअसल जाँच नाका कच्चे में माल भरकर आ रहें वाहनों को रोका गया तब वाहन मालिकों को इसकी जानकारी हुई।

माइंस प्रबंधन की लापरवाही व मनमानी के चलते गाड़ी मालिकों और जाँच नाका के कर्मचारियों के बीच विवाद हो गया और मामला चौकी तक पहुँच गया।

Permit : यहां के कर्मचारियों ने कुछ वाहन मालिकों के खिलाप शिकायत दर्ज कराया है कि उनके साथ गाली गलौज किया गया है और जबरदस्ती वाहनों को नाके से पार करा दिया गया।

Permit : भानुप्रतापपुर के कच्चे आरीडोंगरी स्थित गोदावरी माइंस

में परिवहन के पूर्व ही वन विभाग के द्वारा अनुज्ञा पत्र (टीपी) काटा जाता है, अनुज्ञा पत्र (टीपी) जारी कर प्रबंधन द्वारा खनन क्षेत्र से कितने मात्रा में आयरन ले जा रहा है, उनका रिकॉर्ड दर्ज रहता है। बिना टीपी का आयरन नही ले सकता है।

किंतु प्रबंधन के द्वारा 27 जुलाई की रात्रि 10 बजे कर्मचारियों कि हड़ताल का फायदा उठाते हुए लौह अयस्क निकालने की घटना सामने आई है।

नाका कर्मचारियों के द्वारा आयरन से भरी वाहनो की टीपी जाँच हेतु रोका गया तो प्रबंधन व वाहन मालिकों के द्वारा फारेस्ट नाका पहुचकर ड्यूटी में रहे कर्मचारियों के साथ गाली गोलौच करते हुए उन्हें धमकाया गया। जिसकी शिकायत कच्चे पुलिस चौकी में दर्ज कराई गई है।

ड्यूटी पर रहे कर्मचारी ने बताया कि 27 जुलाई के रात्रि को लगभग 10बजे आयरन से भरे 20 वाहनो को टीपी जाँच के लिए रोका गया था टीपी नही होने के कारण वाहनों को रोककर जिसकी जानकारी वन परिक्षेत्र अधिकारी व डीएफओ को दी गई ।

जब नाका में वाहन रोकें जाने की जानकारी माइंस प्रबंधन एवं वाहन मालिकों को लगी तो रात्रि में पहुचे हम लोगो ने हमारे अधिकारी से बात होने की बात कही गई। हमने बताया कि अधिकारियों के द्वारा ही टीपी जांच के लिए ही वाहनो को रोकने का आदेश दिया गया।

जिस पर माइंस प्रबंधन एम के झा, एन एस सिंह, व पात्रे व वाहन मालिक जितेंद्र जायसवाल, जीवराखन सलाम, अशोक खास,अशोक साहू,सिया कल्लो, के द्वारा हमे गाली गौलोच करते हुए नाका को खुलवाकर सभी आयरन ओर से भरी वाहनो को ले जाया गया। जिसकी जानकारी हमारे द्वारा डीएफओ साहब को लिखित में दी है।

also read : Hareli : हरेली की बिखरी छटा, खुशियों के साथ मनाया गया हरेली तिहार

इस संबंध में जाधव  कृष्णा डीएफओ पूर्व वनमंडल भानुप्रतापपुर ने कहा कि रात्रि को कर्मचारियों के द्वारा घटना की जानकारी मिली, वीडियो फुटेज व संबंधित दस्तावेज मंगाए गए है, जांच कर विभागीय कार्यवाही की जाएगी।

https://jandhara24.com/news/107339/cbse-result-2022-class-12th-class-12th-result-can-be-seen-on-this-website-cbseresults-nic-in/

Check out other tags:

Most Popular Articles