breaking news New

सुरक्षा के साथ-साथ अरूणाचल प्रदेश की जीवन रेखा बनेगी सेला सुरंग : राजनाथ

सुरक्षा के साथ-साथ अरूणाचल प्रदेश की जीवन रेखा बनेगी सेला सुरंग : राजनाथ

नयी दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि अरूणाचल प्रदेश में बनायी जा रही सेला सुरंग राष्ट्रीय सुरक्षा को पुख्ता करने के साथ-साथ क्षेत्र की सामाजिक आर्थिक स्थिति को मज़बूत करेगी और आने वाले समय में तवांग समेत पूरे राज्य की जीवन रेखा साबित होगी।

 सिंह ने गुरूवार को सीमा सड़क संगठन द्वारा यहां राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर आयोजित एक कार्यक्रम में वीडियो कांफ्रेन्स के माध्यम से अरूणाचल प्रदेश के पश्चिमी कामेंग जिले में बनायी जा रही सामरिक महत्व की सुरंग सेला के अंतिम चरण के कार्य का विस्फोट कर शुभारंभ किया।

साथ ही उन्होंने आजादी के 75 वें वर्ष के उपलक्ष में मनाये जा रहे आजादी के अमृत महोत्सव के तहत सीमा सड़क संगठन , सेना और जीआरईएफ के एक मोटरसाइकिल अभियान को भी हरी झंडी दिखाकर राष्ट्रीय युद्ध स्मारक से रवाना किया। यह अभियान 75 दिन में 20 हजार किलोमीटर की दूरी तय करेगा।

इस मौके पर सीमा सड़क संगठन की कर्तव्यनिष्ठा और अथक परिश्रम की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि यह आपकी देश की सुरक्षा और सामाजिक आर्थिक विकास के प्रति वचनबद्धता को दर्शाता है।

उन्होंने कहा, “ हमारे बी आर ओ के जवान, सर्दी, गर्मी, बरसात और बर्फबारी झेलते हुए सैन्य और नागरिक उद्देश्य से सड़क और पुलों का निर्माण करते हैं। पिछले कुछ सालों में तो बीआरओ ने ऐसी उपलब्धियां हासिल की हैं, जो पूरी दुनिया के लिए अध्ययन का विषय बन गई हैं। ”

सेला सुरंग के सामरिक और सामाजिक आर्थिक महत्व का उल्लेख करते हुए श्री सिंह ने कहा , “ यह टनल राष्ट्रीय सुरक्षा को मज़बूत करने के साथ-साथ, यहाँ के नागरिकों की परिवहन सुविधा में बड़ा बदलाव लाकर यहाँ की सामाजिक आर्थिक स्थिति को मज़बूत करने का काम करेगा। यह सेला टनल, आने वाले समय में तवांग समेत पूरे अरुणाचल प्रदेश की जीवनरेखा साबित होगी। इस सुरंग का उपयोग करने वाले यात्री, वह चाहे हमारी सेनाओं के जवान हों या यहाँ के आम नागरिक, इस राह में आने वाले कई ख़तरों से बचने में सक्षम होंगे। ”

उन्होंने कहा कि सरकार बीआरओ के सभी प्रयासों में हर संभव सहयोग देती रही है और यह आगे भी जारी रहेगा।