breaking news New

आठ करोड़ रुपये की रिश्वत मामले में समीर वानखेड़े ने कहा -मैं जांच के लिए तैयार हूं

आठ करोड़ रुपये की रिश्वत मामले में  समीर वानखेड़े ने कहा -मैं  जांच के लिए तैयार हूं

मुंबई।  नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े ने सोमवार को कहा कि उन्हें आर्यन खान की गिरफ्तारी मामले को लेकर निशाना बनाया जा रहा है और वह प्रभाकर सैल द्वारा उनके विरुद्ध आठ करोड़ रुपये की रिश्वत लेने के आरोप की जांच का सामना करने के लिए तैयार हैं।

वानखेडे ने न्यायाधीश वी. वी. पाटिल की अध्यक्षता वाली एनडीपीएस की स्पेशल अदालत में श्री वानखेड़े ने कहा कि उन्हें ( वानखेड़े) निशाना बनाया जा रहा है और वह किसी भी जांच के लिए तैयार हैं।

इस संबंध में अदालत में दो हलफनामे दायर किये गये हैं, जिसमें से एक एनसीबी ने तथा दूसरा वानखेड़े ने दायर किया। एनसीबी के उप महानिदेशक ज्ञानेश्वर सिंह ने अदालत से कहा, “ समीर वानखेड़े के खिलाफ लगाए गए आरोपों की जांच की जा रही है। ”

एनसीबी की ओर से दायर हलफनामे में कहा गया है कि गवाह  सैल के बयान के आधार पर कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी गयी है, जबकि  वानखेड़े की ओर से दायर हलफनामा में सभी आरोपों को खारिज किया गया है और कहा गया है कि वह जांच के लिए तैयार हैं।”

श्री वानखेड़े ने इस संबंध में महाराष्ट्र के पुलिस महानिरीक्षक संजय पांडे को पत्र लिख कर अपने खिलाफ किसी तरह की कार्रवाई शुरू नहीं करने की अपील की है और कहा है कि कुछ लोग फर्जी तरीके से उन्हें आर्यन खान मामले में फंसाना चाह रहे हैं।

 वानखेड़े ने यह पत्र मुंबई क्रूज ड्रग्स मामले के एक गवाह प्रभाकर सैल द्वारा सोशल मीडिया और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर रिश्वत संबंधी आरोप लगाने के बाद लिखा है, जिसमें श्री सैल ने कहा है कि बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान के पुत्र आर्यन खान को छोड़ने के लिए काफी राशि की मांग की गयी थी।

 सैल ने आरोप लगाया है कि इसके लिए बॉलीवुड स्टार से 25 करोड़ रुपये मांगे गए थे और 18 करोड़ रुपये में समझौता हो गया था, जिसमें आठ करोड़ रुपये  वानखेड़े को दे दिए गए थे तथा बाकी के पैसे अन्य लोगों में बांटे जाने थे।

उल्लेखनीय है कि मुंबई क्रूज ड्रग्स मामले में एनसीबी ने शाहरुख खान के पुत्र आर्यन खान को एनसीबी ने दो अक्टूबर को गिरफ्तार किया था।