breaking news New

आमदई माइंस से लौह अयस्क भरकर जा रहे तेज रफ्तार ट्रक वाहन अनियंत्रित होकर पलटी

आमदई माइंस से लौह अयस्क भरकर जा रहे तेज रफ्तार ट्रक वाहन अनियंत्रित होकर पलटी

आये दिन हो रही है माइंस की गाड़िया तेज रफ्तार के कारण दे रही है दुर्घटनाओं को आमंत्रण 

ग्रामीण इलाको में तेज रफ्तार ट्रको के चलते जान माल को हो सकता है नुकसान 

नारायणपुर - नारायणपुर ओरछा मार्ग पर जिला मुख्यालय से 47 किलोमीटर दूर आमदई लौह अयस्क माइंस से माल भरकर रोजना 40 से 50 गाड़िया भरकर तेज रफ्तार में आमदई माइंस से निकलती है उक्त मार्ग पर छोटे छोटे कई गांव पड़ते है इन गांवों के ग्रामीणों को रोजाना इन गुजरने वाली तेज रफ्तार माल वाहनों से जानमाल का भय सदैव बना रहता है ।

माल से भरी ट्रक  तेज रफ्तार के चलते आए दिन दुर्घटना ग्रस्त हो रही है । आज शुक्रवार को भी एक माल से भरी ट्रेक तेज रफ्तार के कारण अनियत्रित होकर नारायणपुर ओरछा मार्ग पर फरसगांव के पास पलट गई ।

इससे पहले भी कई बार माइंस से माल भरकर आ रही गाड़िया दुर्घटना ग्रस्त हुई है पिछली बार फरसगांव के पास माइंस में माल भरने जा रही तेज रफ्तार वाहन ने बाइक सवार को जबरदस्त टक्कर मार कर पुल के नीचे गिर गई थी जिसमे ट्रक चालक को हल्की चोट और बाइक सवार को गंभीर चोट आई थी ।

तेज रफ्तार वाहनों पर कोई लगाम नहीं होने के कारण ट्रक चालकों के हौसले बुलंद है और रफ्तार में कोई कमी नही करते हुए तेज रफ्तार से माल भरकर वापस नंबर लगाने के लिए तेज रफ्तार में आते है जिसके चलते दुर्घटनाओं में वृद्धि हो रही है ।

वही जिला मुख्यालय में भी माइंस के वाहनों को रफ्तार में कोई कमी नही होती है माइंस की वाहनों के चलते नारायणपुर अंतागढ़ मार्ग पर भी लगातार दुर्घटनाएं हो रही है वही नारायणपुर से अंतागढ़ मार्ग की हालत काफी दयनीय है सिंगल सड़क मार्ग होने के कारण आमने सामने वाहन के आने से तेज रफ्तार के कारण कई वाहन दुर्घटना को शिकार हो चुके है जिसपे लगाम नहीं लगने के कारण बड़ी दुर्घटनाएं होने की आशंका सदैव बनी रहती है ।

इन दुर्घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए माइंस के वाहनों को रफ्तार पर लगाम लगाना अत्यंत आवश्यक है जिसके लिए यातायात विभाग को कड़े कदम उठाने की जरूरत है ।