breaking news New

“उड़ती दिल्ली' बनाने का आरोप लगाते हुए सूरी ने केजरीवाल सरकार को घेरा

“उड़ती दिल्ली' बनाने का आरोप लगाते हुए सूरी ने केजरीवाल सरकार को घेरा

नयी दिल्ली।  कांग्रेस ने अरविन्द केजरीवाल सरकार पर महिलाओं की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ करने और दिल्ली को “उड़ती दिल्ली' बनाने का आरोप लगाते हुए कहा है कि सरकार जानबूझकर रिहायशी इलाकों में शराब की दुकानें खोल रही है जिसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ेगा।

दिल्ली नगर निगम के पूर्व महापौर फरहाद सूरी और दरियागंज की निगम पार्षद यास्मीन किदवई ने आज यहां कहा कि लोगों की सुरक्षा और कल्याण की बड़ी-बड़ी बातें करने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की खामियां उजागर हो गयी है। महिलाओं की सुरक्षा से समझौैता किया जा रहा है और धार्मिक स्थलों के पास शराब की दुकानें खोली जा रही है।

 किदवई ने कहा कि सरकार ने शराब माफियाओं को फायदा पहुंचाने के लिए आबकारी नीति में बदलाव कर दिया है। इससे पहले मॉल, स्थानीय शाॅपिंग सेंटरों में शराब की दुकानों को खोलने की अनुमति थी जिससे किसी भी निवासी को कोई दिक्कत नहीं होती थी लेकिन नियमों में बदलाव कर दिया गया है।

दिल्ली सरकार की ओर से एक परिपत्र जारी किया गया है जिसके तहत अब निगम से अब अनुमति नहीं लेने की जरूरत है जबकि पहले निगम के कुछ नियमों और मानदंडों का पालन करना अनिवार्य था।

उन्होंने कहा कि स्थानीय महिलों के द्वारा विरोध करने के बावजूद भोगल में शराब की दुकान खोली जा रही है। शराब नीति में साफ साफ कहा गया है कि स्थानीय लोग अगर इसका विरोध करेंगे तब दुकान को बंद कर दिया जाएगा।

उन्होंने कि वह और कई स्थानीय लोगों और सामाजिक संगठनों ने इसका विरोध किया लेकिन गूंगी बहरी आम आदमी पार्टी पर इसका कोई असर नहीं पड़ रहा है। इससे सरकार का दोहरा चरित्र सामने आ गया है।

कांग्रेस के नेताओं ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने अपने घोषणापत्र में भी वादा किया है कि जिस इलाके में शराब की दुकान खोली जाएगी वहां स्थानीय महिलाओं से पहले अनुमति ली जाएगी। श्री केजरीवाल ने अपने किये वादों को आसानी से भूलकर हर गली मोहल्ले में शराब की दुकानें खुलवाने पर तुली है।

श्री सूरी ने कहा कि दिल्ली सरकार प्रदूषण, डेंगू महामारी, महिला सुरक्षा जैसे तमाम चुनौतियों पर ध्यान देने की बजाय शराब की दुकानों को खोलने पर ध्यान केंद्रित करने पर लगी है जिससे महिलाओं में असुरक्षा की भावना पनप रही है।

उन्होंने कहा श्री केजरीवाल ने पिछले पंजाब विधानसभा चुनाव में कहा था कि 'उड़ता पंजाब दिखाता है कि कैसे राजनेता लोग ड्रग रैकेट्स चला रहे हैं' लेकिन अब वह 'उड़ती दिल्ली' बनाने की फिराक में हैं जो बहुत ही चिंतनीय है।

उन्होंने कहा कि परिपत्र के अनुसार शराब की दुकान खोलने के लिए कम से कम 50 वर्ग मीटर जगह होनी चाहिए लेकिन इससे कम जगह वाली दुकानों को भी लाइसेंस दिया जा रहा है।

लाइसेंस जारी करते समय यह भी जानकारी नहीं ली जा रही है कि उस मकान का 'कंप्लीशन सर्टिफिकेट' है कि नहीं। नगर निगम हालांकि बिना कंप्लीशन सर्टिफिकेट के किसी भवन में व्यावसाय करने की अनुमति नहीं देता है। यह सरासर नियमों का उल्लंघन है।