aajkijandhara

Transfer ट्रांसफर के नाम पर महिला कर्मचारी को अपने पास बुलाने का ऑडियो सोशल मिडिया पर वायरल

(New ambitious plan of the government) शासन की नई महत्वाकांक्षी योजना : हाईटेक रोपणी सिरसिदा में आयोजित किया गया मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना

(New ambitious plan of the government)

(New ambitious plan of the government) शासन की नई महत्वाकांक्षी योजना

(New ambitious plan of the government) चारामा !   वन परिक्षेत्र चारामा अंतर्गत छग शासन वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के माध्यम से शासन की नई महत्वाकांक्षी योजना ” मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना” के सफल समुचित क्रियान्वयन के संबन्ध में विभाग के अधिकारी कर्मचारियों के प्रशिक्षण हेतु वनमण्डल स्तरीय कार्यशाला हाईटेक रोपणी सिरसिदा में आयोजित किया गया । आयोजित प्रशिक्षण सह कार्यशाला में कांकेर वनमण्डल के वन परिक्षेत्र- नरहरपुर, सरोना एवं चारामा के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित हुए ।

कार्यशाला का शुभारंभ कांकेर वनवृत्त के मुख्य वन संरक्षक राजू आगसिमनी (भावसे) कांकेर वनमण्डल के वनमण्डलाधिकारी आलोक वाजपेयी (भावसे) एवं योजना के नोडल अधिकारी आर एस मरकाम उप वनमण्डलाधिकारी कांकेर द्वारा माँ सरस्वती की पूजा अर्चना दीप प्रज्वलन कर तदोपरांत राज्यगीत अरपा पैरी के धार गीत से किया गया ।

(New ambitious plan of the government) कार्यशाला में क्रमश नोडल अधिकारी एवं एसडीओ कांकेर आर एस मरकाम, आलोक बाजपेयी डीएफओ कांकेर तथा सीसीएफ कांकेर द्वारा उपस्थित समस्त अधिकारी कर्मचारियों को योजना के सभी बातों को विस्तार बताया समझाया गया ।

मुख्यमंत्री वृक्ष संपदा योजना भूमिधारी ग्रामीण कृषकों के लिये एक बहुत लाभकारी योजना है जिसके माध्यम से कृषक अपने निजी कृषि या पड़त भूमि में कुछ चिन्हित विशेष प्रजाति के पौधों का रोपण कर एक समयावधि में अच्छी आय प्राप्त कर सकता है जैसे टिश्यू कल्चर के सागौन, बांस, क्लोनल नीलगिरी, मिलिया डूबिया, चंदन आदि ।

(New ambitious plan of the government) चीफ कंसर्वेटर कांकेर द्वारा विस्तार से अवगत कराया गया कि कृषक ग्रामीण न्यूनतम आधा एकड़ से अधिकतम 5 एकड़ तक कि भूमि में पौधों का रोपण कर सकते है ।

अच्छी क्वालिटी के पौधे वन विभाग के माध्यम से निःशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा । गड्ढा खोदाई के लिये 4 रुपये प्रति गड्ढा, खाद डालने के लिये 3.50 रुपये प्रति पौधा तथा कीटनाशक आदि के लिये 2.50 रुपये प्रति पौधा का भुगतान कार्य उपरांत कृषकों को विभाग द्वारा प्रदाय किया जाएगा ।

रोपण के आगामी दो वर्षों तक जीवित पौधों के गणना अनुसार प्रति वर्ष प्रत्येक जीवित पौधों के के रखरखाव पर 4 रुपये प्रति पौधा तथा पुनः खाद कीटनाशक डालने के लिये 2.50रुपये प्रति पौधे के दर से कृषकों को भुगतान किया जाएगा ।

टिश्यू कल्चर के बांस एवं क्लोनल नीलगिरी पौधों की अवधि 4 वर्ष की है 4 वर्ष में बांस एवं नीलगिरी के पर्याप्त वृद्धि से इन्हें विभाग शासन द्वारा निर्धारित दर पर क्रय करेगा ।

एक एकड़ में रोपित पौधों के निर्धारित वर्षो में प्राप्त उपज से एक आंकलन अनुसार बांस की उपज प्रति एकड़ 40 टन होती है तो बाजार भाव 4000/- प्रति टन पर कृषकों को उनके 1 एकड़ की बांस उपज में प्रति वर्ष प्रति एकड़ 22,812/- का लाभ होगा ।

(New ambitious plan of the government) इसी प्रकार क्लोनल नीलगिरी के प्रति एकड़ 30 टन अनुमानित उत्पादन से बाजार भाव ₹ 3000/- प्रति टन की दर से प्रति वर्ष प्रति एकड़ 14387/- रुपये का सकल लाभ हितग्राही कृषकों को प्राप्त होगा । ऐसे ही टिश्यू कल्चर सागौन के रोपण से निर्धारित 12 वर्ष उपरांत प्रति एकड़ लगभग 1500 घन फिट प्राप्त सागौन काष्ठ के विक्रय से लगभग 26 लाख प्रति एकड़ का लाभ प्राप्त हो सकता है ।

वन विभाग द्वारा ग्रामीण कृषकों को अधिक से अधिक योजना का लाभ लेने हेतु प्रेरित किया जा रहा है ताकि योजना अनुसार किसान सागौन नीलगिरी एवं बांस के उच्च गुणवत्ता के पौधा रोपण कर अच्छा लाभ पा सकते है ।

योजना के संबन्ध में और अधिक जानकारी के लिये ग्रामीण किसान अपने क्षेत्र के परिसर रक्षक, परिक्षेत्र सहायक या परिक्षेत्र कार्यालय जाकर प्राप्त कर सकते है ।

(New ambitious plan of the government) कार्यशाला में आशीष आर्य,परिक्षेत्र अधिकारी नरहरपुर , धनलाल साहू परिक्षेत्र अधिकारी सरोना, टी आर सिन्हा परिक्षेत्र अधिकारी चारामा, विजय सिन्हा, युगल सोनबोइर, अजय नागवंशी मनीष नेताम एवं तीनो परिक्षेत्र नरहरपुर सरोना चारामा के सभी अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे !

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *