aajkijandhara

Transfer ट्रांसफर के नाम पर महिला कर्मचारी को अपने पास बुलाने का ऑडियो सोशल मिडिया पर वायरल

Mother Child Hospital : बेरला के 30 बिस्तर अस्पताल को मातृ शिशु अस्पताल के रूप में 50 बिस्तर करने मुख्यमंत्री की घोषणा

Mother Child Hospital :

Mother Child Hospital हसदा में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी स्कूल प्रारंभ करने
 बेरला में जिम और इनडोर स्टेडियम
भिंभौरी में विद्युत विभाग के सबस्टेशन निर्माण की घोषणा

Mother Child Hospital बेमेतरा ! मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज बेरला प्रवास के दौरान माता बिंदेश्वरी बघेल स्मृति सामुदायिक मनवा कुर्मी भवन का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बेरला के 30 बिस्तर अस्पताल कोमातृ शिशु अस्पताल (एमसीएच-मदर एण्ड चाईल्ड हॉस्पीटल) में उन्नयन कर 50 बिस्तर करने की घोषणा की। उक्त अस्पताल का नामकरण माता बिंदेश्वरी देवी के नाम पर किया जायेगा।

Mother Child Hospital मुख्यमंत्री ने ग्राम हसदा में स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी स्कूल प्रारंभ करने, बेरला में जिम और इनडोर स्टेडियम, भिंभौरी में विद्युत विभाग के सब स्टेशन निर्माण की घोषणा की। इसके अलावा उन्होने सामुदायिक भवन के आहाता के लिए आवश्यक कार्यवाही करने का भरोसा दिलाया। श्री बघेल ने सामुदायिक भवन परिसर में पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देने वृक्षारोपण किया।

Mother Child Hospital मुख्यमंत्री ने  इस अवसर पर गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू विधायक आशीष कुमार छाबड़ा, मनवा कुर्मी क्षत्रिय समाज धमधा राज के अध्यक्ष चंद्रशेखर परगनिहा, जनपद पंचायत अध्यक्ष हीरा देवी वर्मा, नगर पंचायत अध्यक्ष बेरला राजबिहारी कुर्रे सहित गणमान्य नागरिक बड़ी संख्या में उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने आम नागरिकों को अपनी बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि सामाजिक कार्यों के लिए इस भवन का उपयोग होगा।

Mother Child Hospital मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ अन्नदाताओं का प्रदेश है हम खुशहाल छ.ग. की ओर आगे बढ़ रहे हैं। इस वर्ष धान की फसल बढ़िया थी, धान की कटाई मिंजाई हो गई है। धान उपार्जन का कार्य बड़े पैमाने पर सुव्यवस्थित रुप से चल रहा है। खरीफ विपणन वर्ष 2022-23 में 110 लाख मीट्रिक टन धान खरीदी का लक्ष्य है गत वर्ष राज्य सरकार द्वारा 98 लाख मीट्रिक टन खरीदी किया गया था।

मुख्यमंत्री ने किसानों से गौठान में पैरादान करने की अपील की जिससे कि गौ-माता को भोजन के रुप में चारा मिल सकेगा। उन्होने खेती-किसानी में रासायनिक खाद के उपयोग पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि इससे जमीन की उर्वराशक्ति कमजोर हो रही है। किसान भाई जैविक खेती और कम्पोस्ट खाद का उपयोग कर अपनी पैदावार बढ़ा सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने लोगों को आगामी पर्व छेर-छेरा पुन्नी की बधाई एवं शुभकामनाएं दी। गृहमंत्री श्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल किसानों की स्थिति में सुधार लाने के लिए प्रयास कर रहे हैं। समाज के सभी वर्गों के हित में योजनाएं चलाई जा रही है। राम-वन-गमन पथ हेतु 138 करोड़ का प्रावधान रखा गया है। स्थानीय विधायक आषीष छाबड़ा ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *