aajkijandhara

Transfer ट्रांसफर के नाम पर महिला कर्मचारी को अपने पास बुलाने का ऑडियो सोशल मिडिया पर वायरल
(Medical College Hospital Ambikapur)

(Medical College Hospital Ambikapur) बच्ची के गालों से ट्यूमर निकालकर मेडिकल कॉलेज अस्पताल अंबिकापुर ने एक और कीर्तिमान कर लिया हासिल, देखिये Video

(Medical College Hospital Ambikapur) एक के बाद एक कई कीर्तिमान हासिल कर रहे अंबिकापुर के डॉक्टर

आंखों का सफल ऑपरेशन कर दी गई नई रोशनी

(Medical College Hospital Ambikapur) अंबिकापुर ! सरगुजा संभाग के सबसे बड़े मेडिकल कॉलेज अस्पताल अंबिकापुर में डॉक्टरों के द्वारा एक के बाद एक कई सफल ऑपरेशन किए जा रहे हैं जहां पूर्व में नेत्र विभाग के डॉक्टरों के द्वारा सफल ऑपरेशन कर 100 वर्ष से अधिक आयु के लोगों की आंखों का सफल ऑपरेशन कर उन्हें नई रोशनी दी गई है तो वहीं अब मेडिकल कॉलेज अस्पताल के सर्जन डॉक्टर अभिषेक के द्वारा साढ़े 7 माह की बच्ची के गालों से ट्यूमर निकाल बच्ची को बेहतर जीवन दिया है !

स्वास्थ्य विभाग की कमान संभाल रहे प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने हर संभव प्रयास कर रहे हैं जिसका खासा असर सरगुजा संभाग के सबसे बड़े मेडिकल कॉलेज अस्पताल अंबिकापुर में देखने को मिल रहा है जहां संभाग सहित दूसरे राज्यों से भी काफी संख्या में लोग बेहतर इलाज के लिए पहुंच रहे हैं।

(Medical College Hospital Ambikapur) दरअसल बलरामपुर जिले के कुसमी अंतर्गत आने वाले ग्राम परसा में रहने वाले एक परिजन की 7 माह की बच्ची के गाल में सूजन हो गया था जिसे ठीक कराने परिजन शहर के एक निजी अस्पताल पहुंचे जहां से उन्हें मेडिकल कॉलेज अस्पताल भेजा गया जहां मेडिकल कॉलेज अस्पताल के सर्जन डॉक्टर अभिषेक के द्वारा 7 माह की बच्ची को अस्पताल में भर्ती कर उसकी पूरी जांच की गई, जिसमें बच्चे के गाल में ट्यूमर का होना पता चला,जिसके बाद मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ रमेश मूर्ति एवं अस्पताल अधीक्षक को मामले की जानकारी देते हुए बच्ची के ऑपरेशन की तैयारियां शुरू की, 4 घंटे तक चले इस ऑपरेशन में अंततः डॉक्टरों को सफलता मिली और सकुशल बच्चे के गाल से ट्यूमर को पृथक डॉक्टरों के द्वारा किया गया, जिसके बाद यह बच्ची अब पूरी तरीके से स्वस्थ है, इस ऑपरेशन की खास बात यह रही कि डॉक्टरों ने बच्चे के भविष्य को देखते हुए गाल के बाहर से नहीं बल्कि अंदर से ट्यूमर को बाहर निकाला है जिससे भविष्य में बच्ची के चेहरे को लेकर कोई परेशानी परिजनों को ना हो सके

(Medical College Hospital Ambikapur) बच्ची के परिजनों ने बताया मेडिकल कॉलेज अस्पताल में उन्हें लगभग 20 दिन हो चुके हैं इस दौरान उनसे एक भी रुपए का शुल्क नहीं लिया गया है ऑपरेशन से लेकर रुकने और खाने तक की व्यवस्था अस्पताल तरफ से उपलब्ध कराई गई है, बच्ची के स्वस्थ हो जाने से माता-पिता के चेहरे पर भी खुशी देखने को मिली जिसके बाद बच्ची के पिता ने डॉक्टर को धन्यवाद ज्ञापित किया है,, बच्ची का सफल ऑपरेशन करने वाले सर्जन डॉक्टर अभिषेक ने बताया इस प्रकार के इलाज के लिए निजी अस्पतालों में ढाई से तीन लाख रु का खर्च परिजनों पर पड़ जाता, मगर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में यह इलाज निशुल्क किया गया है,वही 20 दिनों तक अस्पताल में इलाज के बाद आज स्वस्थ हो चुकी बच्ची को छुट्टी देकर पुनः घर वापस भेज दिया गया है, जहां बच्ची पहले से अब बेहतर महसूस करने के साथ ही हंस खेल भी रही है

संभाग के सबसे बड़े मेडिकल कॉलेज अस्पताल अंबिकापुर में संभाग सहित दूसरे राज्यों से भी काफी संख्या में लोग बेहतर इलाज पाने पहुंचते हैं, अस्पताल की व्यवस्थाएं दुरुस्त रहे इसको लेकर अपने दौरे पर अंबिकापुर पहुंचने पर स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव के द्वारा लगातार विशेष नजर बनाते हुए समय-समय पर औचक निरीक्षण भी करते रहते हैं,

(Medical College Hospital Ambikapur) जिसके फलस्वरूप मेडिकल कॉलेज अस्पताल में एक के बाद एक कई सफल ऑपरेशन किए जा रहे हैं इससे पूर्व भी सर्जन डॉक्टर अभिषेक के द्वारा कई सफल ऑपरेशन कर लोगों को एक नया जीवन प्रदान किया गया है वहीं अब मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 7 माह की बच्ची के गालों से ट्यूमर निकालकर एक और कीर्तिमान हासिल कर लिया है !

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *