aajkijandhara

Transfer ट्रांसफर के नाम पर महिला कर्मचारी को अपने पास बुलाने का ऑडियो सोशल मिडिया पर वायरल

(Manasgan Competition) हरि अनन्त हरि कथा अनन्तता सुनहि कहहि बहु विधि सब संता

(Manasgan Competition)

(Manasgan Competition) ग्राम रानवाही में जनपद स्तरीय मानसगान प्रतियोगिता का शुभारंभ


(Manasgan Competition) भानुप्रतापपुर। पावन ग्राम रानवाही बाजारपारा में एक दिवसीय जनपद पंचायत स्तरीय संगीतमय मानसगान प्रतियोगिता का शुभारंभ किया गया है। कार्यक्रम के मुख्यातिथि सरोज महिलांगे सीईओ जनपद पंचायत भानुप्रतापपुर, अध्यक्षता चेतन मरकाम अध्यक्ष प्रदेश सरपंच संघ, एवं विशिष्ट आतितियो में जगदु कोर्राम पूर्व सरपंच कुल्हाडकट्टा ग्रामीण द्वारिका पटेल सहित जनपद पंचायत के अधिकारियो के आतिथ्य में सम्पन हुआ।

(Manasgan Competition) प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी जनपद पंचायत भानुप्रतापपुर के द्वारा विकासखंड स्तरीय मानसगान स्पर्धा का आयोजन किया गया है। जिसमे आठ से दस रामायण मंडली शामिल हुए है। मानसगान की शुरुवात माँ भवानी मानस परिवार ग्राम सेलगांव के द्वारा किया गया। जिनका मूल उद्देश्य नैतिक मूल्यों के पुरजोर में सुधार करना व राम चरित्र मानस को जन जन तक प्रचार- प्रसार करना है। शुरुआत बालकांड के सुंदर प्रसंग के प्रस्तुति के साथ किया गया। मानसगान कथा के दौरान बताया गया कि * हरि अनन्त हरि कथा अनन्तता सुनहि कहहि बहु विधि सब संता * भगवान की कथा अनन्त है अथाह है उसे शब्दो मे वर्णन कर पाना असंभव है।

(Manasgan Competition)

(Manasgan Competition)  भगवान श्री राम के नाम व महिमा के गुणगान व बखान तो बड़े बड़े ऋषि मुनि व महादेव एवं हजार मुख वाले शेषनाग भी नही कर पाए तो मैं क्या करूंगी मेरे लिए तो श्रीराम कि महिमा का बखान करना सूर्य को रोशनी दिखाने के प्रयास के समान है। आप सभी संतो के साथ मिलकर भगवान श्रीराम के प्रथम सोपान बाल्यकाण्ड दोहा क्रमांक 21 का वर्णन करते हुए बताया कि * कलियुग केवल नाम आधारा,सुमिरत सुमिरत जन उतरई पारा * अर्थात कलियुग में सिर्फ एक ही नाम का आधार है और वह है श्रीराम जी का है, शेष कुछ भी नही है।

(Manasgan Competition)  भगवान श्रीराम के उत्तपत्ति कहा से हुआ कथा के माध्यम से बताया गया कि सृष्टि व ब्रम्हांड जब अंधरकार मय शून्य था तभी एक बत्ती का उदभव हुआ वही प्रकृति रूपी शक्ति है। वो अपने आप को अकेला पाकर तीन पिंडो के निर्माण किया, जिनके आगे सृष्टि निर्माण के प्रस्ताव रखे तब तीनो ने इस पर असमर्थता ब्यक्त किए, चौथा पिण्ड महागणपति के मुख से श्रीराम नाम का उच्चारण किया गया। इनके अलावा अन्य मंडलियों ने अपनी प्रस्तुति दी। धार्मिक आयोजन सुनकर स्रोतागण भावविभोर होते रहे।

इस आयोजन निर्णायक टीम के सदस्य मौजूद रहे मंच संचालन ईश्वर साहू ने किया। जनपद पंचायत का आयोजन होने के कारण जनपद पंचायत के कर्मचारी के एवं पंचायत सचिव झाड़ू राम गोटा, रघुवर साहू, बरनसिह आचला, बरसन सलाम, केशाराम कोरेटी,रतिराम कावड़े, बज्जू पोटाई,जैतलाल दुग्गा, आसमती शोरी, ममता, निधि राजपूत, बसंती नेताम, सरस्वती निर्मलकर,सामवटी पद्मावत,रामकरण सिन्हा, भेष कुमार जैन, कृष्ण कावड़े, राम कुमार मंडावी आदि उपस्थित रहे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *