aajkijandhara

Transfer ट्रांसफर के नाम पर महिला कर्मचारी को अपने पास बुलाने का ऑडियो सोशल मिडिया पर वायरल

Malkharoda block : सक्ति जिले के मालखरौदा विकासखंड के ग्राम पंचायत सोनादुला निरीक्षण के लिए पहुंचे कलेक्टर नुपुर पन्ना राशि

Malkharoda block : सक्ति जिले के मालखरौदा विकासखंड के ग्राम पंचायत सोनादुला निरीक्षण के लिए पहुंचे कलेक्टर नुपुर पन्ना राशि

Malkharoda block : सक्ती छत्तीसगढ़ की महत्वपूर्ण और महत्वाकांक्षी योजना रीपा को जमीनी स्तर पर लागू करने और अच्छे संचालन कराने के संबंध में आज सक्ति जिले के कलेक्टर नूपुर पन्ना राशि ने आजीविका संवर्धन से संबंधित विभागीय कार्यो की अद्यतन प्रगति

Malkharoda block :की समीक्षा के लिए मालखरौदा विकासखण्ड अंतर्गत आने वाले ग्राम पंचायत सोनादुला के मॉडल का गौठान का जायजा लिया। उन्होंने रीपा(रूरल इंडस्ट्रियल पार्क) मॉडल गोठान की जानकारी लेते हुए गोठानों के लिए प्राप्त मशीनों के संचालन

Also read  :Malkharoda block : सक्ति जिले के मालखरौदा विकासखंड के ग्राम पंचायत सोनादुला निरीक्षण के लिए पहुंचे कलेक्टर नुपुर पन्ना राशि

के लिए समूह को ट्रेनिंग देने के कार्य को अतिशीघ्र पूर्ण कर प्रोडक्शन प्रारंभ करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि गोठानों में कार्यरत सक्रिय महिला समूह को लाभांश प्राप्त हो रहा है, सुनिश्चित करें। उन्होंने समूह के सदस्यों के आय में

वृद्धि के लिए गतिविधियों की नियमित मॉनिटिरिंग के साथ व्यवसायिक लिंकेज पर कार्य करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि सभी गोठानों में 5 प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित की जा रही है। आयमूलक गतिविधियों के साथ ही समूह की आय और लाभांश की विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने कहा कि गतिविधियों व्यवसायिक लिंकेज पर कार्य किया जाए जिससे

Also read  :https://jandhara24.com/news/126838/bjp-spokesperson-shared-video-of-tihar-jail-and-said-that-instead-of-punishment-satyendar-jain-was-getting-full-vip-fun/

समूहों के लाभांश में वृद्धि होगी। जनपद सीईओ को निर्देशित करते हुए कहा कि रीपा गोठानों में निर्मित सामग्रियों की ब्रिकी एवं लिंकेज के संबंध में निरंतर बैठक ले एवं गोठानों का निरीक्षण करें।

कलेक्टर ने कहा कि वर्मी कम्पोस्ट निर्माण के अलावा अन्य गोठानों 3-3 प्रोसेसिंग यूनिट कितनों गोठानों में उपलब्ध है उनका लिस्ट बनाया जाए। इसके साथ ही इन गोठानों में पानी, बिजली, मुर्गी शेड, मशीन जैसे अतिरिक्त आवश्यकता की

मांग आती है, तो अतिशीघ्र पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि गोठानों में निर्मित सामग्री की गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखे एवं समूह का लिंकेज आंगनबाड़ी, स्कूल एवं छात्रावास में किया जाए। जिससे ये संस्थान आवश्यक वस्तुओं की खरीदी संबंधित समूह से करेंगे,

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *