aajkijandhara

Transfer ट्रांसफर के नाम पर महिला कर्मचारी को अपने पास बुलाने का ऑडियो सोशल मिडिया पर वायरल

(Maanasagaan sammelan) मानसगान सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए डॉ देवेंद्र माहला

(Maanasagaan sammelan)

(Maanasagaan sammelan) मानसगान सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए डॉ देवेंद्र माहला

(Maanasagaan sammelan) भानुप्रतापपुर। प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी शिव शक्ति सत्संग समिति सेमरडीह के तत्वाधान एवं समस्त ग्रामवासियों के सहयोग से दिनांक 21 जनवरी से 22 जनवरी 2023 तक दो दिवसीय सस्वर मानस गान सम्मेलन व प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है।

आज मानसगान प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह अखिल भारतीय हल्बा समाज केंद्रीय महासभा अध्यक्ष डॉ देवेंद्र माहला के मुख्य आतिथ्य व रामेश्वर सिंह ठाकुर के अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ, साथ ही विशेष अतिथि के रूप में पूर्व जनपद उपाध्यक्ष दुष्यंत गिरी गोस्वामी जी, दाऊ लाल निषाद , चुन्नीलाल प्रीतम , छोटेलाल साहू, रमेश प्रसाद फांफरे , बलदेव यादव जी उपस्थित रहे। समारोह के प्रारंभ में सर्वप्रथम मंचस्थ अतिथियों का स्वागत सत्कार किया गया तत्पश्चात श्रीरामदरबार के तैल चित्र का पूजा अर्चना किया गया।

(Maanasagaan sammelan)  उद्बोधन की कड़ी में श्रोतागण को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि डॉ देवेंद्र माहला ने कहा कि गांव -गांव में होने वाले रामायण सम्मेलन से क्षेत्र का माहौल काफी सकारात्मक हो जाता है, और श्रोतागण भी अपने आप को धन्य महसूस करते हैं। यह पावन आयोजन भले ही एक या दो दिवसों का होता जरूर है पर इसका प्रभाव हमारे मन मस्तिष्क में जन्म जन्मांतर तक रहता है।

यह रामायण हमे जीवन जीने की शैली शिखाता है, भगवान मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम जी का मर्यादित चरित्र हमारे जीवन को काफी सकारात्मक प्रभावित करता है।

मैं भी अपने आप को सौभाग्यशाली मानता हूं जिसे यह पवित्र मानसगान समारोह में सम्मिलित होने का अवसर प्राप्त हुआ, आगे डॉ माहला ने ग्रामवासियों को विश्वास दिलाते हुए सहयोग की भावना के साथ से सदैव ग्रामीणों के बीच उपस्थित होने की बात कही। साथ ही साथ आये हुए अन्य अतिथियों ने भी सभा को सम्बोधित किया।

(Maanasagaan sammelan)  अतिथि उद्बोधन के पश्चात रामायण प्रतियोगिता प्रारंभ हुई साथ ही विविध रामायण मंडलियों का भी आगमन प्रारम्भ हुआ। आयोजन में समस्त ग्रामवासियों, क्षेत्रवासियों सहित हजारों की संख्या में श्रोतागण उपस्थित रहे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *