breaking news New

एजाज पटेल के शानदार प्रदर्शन के बावजूद न्यूजीलैंड 62 रन पर सिमटा

एजाज पटेल के शानदार प्रदर्शन के बावजूद न्यूजीलैंड 62 रन पर सिमटा

मुंबई।  विश्व टेस्ट चैंपियन न्यूज़ीलैंड की टीम अपने बाएं हाथ के स्पिनर एजाज पटेल के भारतीय पारी में सभी दस विकेट लेने के शानदार प्रदर्शन से प्रेरणा नहीं ले पायी और उसके बल्लेबाजों ने भारतीय गेंदबाजों के सामने यहां दूसरे और आखिरी टेस्ट मैच के दूसरे दिन शनिवार को मात्र 62 रन पर घुटने तक दिए।

भारत को पहली पारी में 325 रन पर ऑलआउट करने के बाद बल्लेबाजी करने आई न्यूजीलैंड की टीम आज एक सत्र भी नहीं खेल पाई। भारतीय गेंदबाजों ने 28.1 ओवरों में 62 रन पर पूरी टीम को पवेलियन भेज दिया। भारत को 263 रनों की विशाल बढ़त मिली लेकिन उसने मेहमान टीम से फॉलोआन नहीं कराया और दूसरी पारी में खेलने का फैसला किया।

इशांत शर्मा की जगह टीम में आए तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने न्यूजीलैंड को शुरुआती झटके दिए। पहले मैच में अच्छा प्रदर्शन करने वाले और इस मैच में कप्तानी कर रहे टॉम लेथम और विल यंग को सिराज ने सस्ते में निपटा दिया। लेथम 10 और यंग चार बना कर आउट हुए। न्यूजीलैंड के पहले दो विकेट क्रमश: 10 और 15 के स्कोर पर गिरे।

सिराज ने इसके बाद फॉर्म से जूझ रहे रॉस टेलर को अपना शिकार बनाया। सिराज ने टेलर को एक रन पर बोल्ड कर दिया। 17 रन पर तीन विकेट गिरने के बाद दबाव में आई न्यूजीलैंड टीम फिर संभल ही नहीं पाई। इसके बाद उसके विकेट लगातार गिरते रहे।

27 के स्कोर पर अक्षर पटेल के डैरिल मिचेल को आउट करने के साथ ही न्यूजीलैंड का पूरा टॉप ऑर्डर पवेलियन लौट गया। फिर अनुभवी भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन मध्य और निचले क्रम के बल्लेबाजों पर कहर बन कर बरपे। उन्होंने एक के बाद एक विकेट चटकाए और देखते ही देखते न्यूजीलैंड की टीम 62 रन पर ऑलआउट हो गयी ।

हेनरी निकोल्स अश्विन का पहला शिकार बने, जिन्हें अश्विन ने क्लीन बोल्ड कर वापस ड्रेसिंग रूम भेजा। 31 के स्कोर पर गिरा न्यूजीलैंड का यह पांचवां विकेट था। इसके अश्विन ने टॉम ब्लंडेल, टिम साउदी और विलियम सोमरविल को पवेलियन का रास्ता दिखाया। इस तरह अश्विन ने चार विकेट चटकाए, जबकि सिराज ने तीन, अक्षर ने दो और जयंत यादव ने एक विकेट लिया।

रचिन रवींद्र के रूप में न्यूजीलैंड का छठा विकेट 38 के स्कोर पर गिरा, जिन्हें जयंत ने आउट किया। 53 रन पर अश्विन ने ब्लंडेल को आउट कर सातवां विकेट चटकाया। इसी ओवर में इसी स्कोर पर अश्विन ने टिम साउदी को शून्य पर आउट किया। यह न्यूजीलैंड का आठवां विकेट था। सोमरविल और जैमिसन के रूप में नाैंवा और दसवां विकेट 62 के स्कोर पर गिरा जो क्रमश: अश्विन और अक्षर के नाम रहा।

न्यूजीलैंड को 62 के स्कोर पर आउट करने के बाद भारत ने फॉलोओन के बजाय बल्लेबाजी का विकल्प चुना। भारत ने 263 रनों की बढ़त के साथ दूसरी पारी शुरू की जो अब बढ़ कर 287 की हो गई है। फिलहाल मयंक अग्रवाल और चेतेश्वर पुजारा क्रीज पर हैं और क्रमश: नौ और 15 के स्कोर पर खेल रहे हैं।

इससे पहले भारतीय टीम ने आज मयंक (150) के शतक और अक्षर (52) के अर्धशतक की बदौलत 109.5 ओवरों में 325 पर अपनी पहली पारी समाप्त की। न्यूजीलैंड की तरफ से लेफ्ट आर्म स्पिनर ने एक पारी में 10 विकेट लेकर इतिहास रचा।

भारत ने शनिवार को दूसरे दिन चार विकेट के नुकसान पर 221 के स्कोर से आगे खेलना शुरू किया। बड़े स्कोर की मंशा से मयंक 120 और रिद्धिमान साहा 25 के व्यक्तिगत स्कोर के साथ क्रीज पर उतरे, लेकिन पहले दिन की तरह न्यूजीलैंड के लेफ्ट आर्म स्पिनर एजाज पटेल ने फिर से भारत को शुरुआती झटके दिए। उन्होंने साहा और रविचंद्रन अश्विन के रूप में लगातार दो विकेट झटके। साहा जहां महज दो रन और जोड़ कर 27 रन पर, वहीं अश्विन बिना खाता खोले आउट होकर पवेलियन लौटे।

इसके बाद हालांकि अक्षर ने मयंक के साथ साझेदारी बनाई। एजाज ने दोनों बल्लेबाजों के खिलाफ आक्रामक गेंदबाजी की, लेकिन दोनों ने सब्र नहीं खोया और क्रीज पर पैर जमाए और फिर रनों की गति को आगे बढ़ाया। दोनों के बीच सातवें विकेट के लिए 67 रन की साझेदारी हुई ही थी कि एजाज ने फिर से कमाल दिखाया और 291 के स्कोर पर मयंक का विकेट लेकर इस साझेदारी को ताेड़ दिया।

मयंक आज अपने व्यक्तिगत स्कोर में 30 रन और जोड़ पाए और 150 रन बना कर आउट हुए। उनके आउट होने के बाद अक्षर ने पारी को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी ली, हालांकि वह ज्यादा स्कोर नहीं जोड़ पाए और 52 रन बना कर एजाज की गेंद पर आउट हो गए। 316 के स्कोर पर भारत का यह आठवां विकेट था। इसके बाद एजाज ने निचले क्रम के बल्लेबाजों जयंत यादव और मोहम्मद सिराज को भी ज्यादा देर टिकने नहीं दिया और उनकी विकेट लेकर 325 के स्कोर पर भारतीय टीम को ऑलआउट कर दिया।

भारत की तरफ से मयंक और अक्षर के अलावा शुभमन गिल ने 44 रन बनाए। वहीं न्यूजीलैंड की ओर से सभी 10 विकेट एजाज ने लिए। यह कारनामा करने वाले वह दुनिया के तीसरे और न्यूजीलैंड के पहले टेस्ट गेंदबाज बने।