breaking news New

फाइनल में पहुंचने के लिए पूरा जोर लगा देंगी मुंबई -दिल्ली क्योंकि इन दोनों की टक्कर से निकलेगा फाइनलिस्ट

फाइनल में पहुंचने के लिए पूरा जोर लगा देंगी मुंबई -दिल्ली क्योंकि इन दोनों की टक्कर से निकलेगा फाइनलिस्ट

दुबई। गत चैंपियन मुंबई इंडियंस और दिल्ली कैपिटल्स के बीच गुरूवार को होने वाले पहले क्वालीफायर से आईपीएल 13 का पहला फाइनलिस्ट निकलेगा और दोनों टीमें फाइनल में पहुंचने के लिए अपना पूरा जोर लगा देंगी।

चार बार की विजेता मुंबई की टीम तालिका में 14 मैचों में नौ जीत और 18 अंकों के साथ तालिका में शीर्ष स्थान पर रही जबकि दिल्ली ने 14 मैचों में आठ जीत और 16 अंकों के साथ दूसरा स्थान हासिल किया था। मुंबई और दिल्ली के बीच पहले क्वालीफायर की विजेता टीम 10 नवम्बर को होने वाले फ़ाइनल में पहुंच जायेगी जबकि हारने वाली टीम आठ नवम्बर को होने वाले दूसरे क्वालीफायर में एलिमिनेटर की विजेता टीम से भिड़ेगी।

मुंबई ने प्लेऑफ में अपना स्थान सबसे पहले सुनिश्चित किया था लेकिन वह अपना आखिरी लीग मैच सनराइजर्स हैदराबाद से 10 विकेट से हारकर पहले क्वालीफायर में खेलने उतरेगी। दूसरी तरफ दिल्ली ने अपने आखिरी लीग मैच में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को हराया था और वह जीत के मनोबल के साथ क्वालीफायर में उतरेगी।

मुंबई को अपने आईपीएल इतिहास में तीसरी बार 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था और मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा ने हार के बाद स्वीकार किया था कि यह दिन उनकी टीम के लिए अच्छा नहीं रहा और टीम दिल्ली के खिलाफ मुकाबले में वापसी करेगी। मुंबई ने हैदराबाद के खिलाफ अपने तीन दिग्गज खिलाड़ियों जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पांड्या और ट्रेंट बोल्ट को विश्राम दिया था और क्वालीफायर में ये तीनों खिलाड़ी लौटेंगे जिससे मुंबई टीम को मजबूती मिलेगी।

दिल्ली को मालूम है कि मुंबई अपनी पूरी ताकत के साथ बेहद मजबूत है और उसे हारना काफी मुश्किल काम है। इस बार दोनों टीमों का अबु धाबी में पहला मुकाबला हुआ था जिसमें मुंबई ने पांच विकेट से जीत हासिल की थी। दोनों टीमों के बीच दूसरी भिड़ंत दुबई में हुई थी जिसमें मुंबई नौ विकेट से जीत गयी थी।

       इस बार लीग मुकाबले में मुंबई का दिल्ली के खिलाफ शत प्रतिशत का रिकॉर्ड है और दिल्ली को यदि सीधे फ़ाइनल में जगह बनानी है तो उसके खिलाड़ियों को आखिरी लीग मैच के प्रदर्शन को क्वालीफायर में बरकरार रखना होगा। दिल्ली की एक बार फिर उम्मीदें शिखर धवन पर तिकी रहेंगी जिन्होंने पिछले मैच में अर्धशतक जमाया था जबकि अजिंक्या रहाणे की फॉर्म में वापसी से दिल्ली का मनोबल मजबूत रहेंगे। रहाणे ने पिछले मुकाबले में इस सत्र का अपना पहला अर्धशतक बनाया था।

दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान श्रेयस अय्यर ने कहा, “हम टूर्नामेंट में सर्वश्रेष्ठ टीमों में से एक हैं और हमें बुनियादी बातों पर टिके रहने की जरूरत है और अगर हम अपनी योजनाओं पर अमल करते रहे तो निश्चित तौर पर सुखद परिणाम आएंगे।”

बेंगलुरु के खिलाफ दिल्ली कैपिटल्स की जीत में निर्णायक भूमिका निभाने वाले मैन ऑफ द मैच तेज गेंदबाज एनरिच नोर्त्जे ने कहा है कि कई बार छोटी-छोटी चीजें भी आपको बेहतर बनाने में मदद करती हैं। नोर्त्जे ने चार ओवर में 33 रन पर तीन विकेट हासिल कर टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

नोर्त्जे ने कहा, “मैंने कई बार कहा है कि यह केवल बेसिक ठीक रखने का मामला है और किसी एक खिलाड़ी के विशेष प्रदर्शन करने जैसा नहीं। इस मैच में छोटी-छोटी चीजें आपको बेहतर बनाने में मदद करती हैं और मुझे लगता है कि उन छोटी चीजों को एक बार जब आप सही कर लेते हैं, तो आप अपनी लय हासिल कर लेते हैं।”

दिल्ली के प्रमुख कोच रिकी पोंटिंग ने कहा कि खिलाड़ियों ने अपने मनोबल को बनाए रखा जिससे टीम को आखिरी लीग मैच जीतने और आईपीएल तालिका में दूसरे स्थान पर पहुंचने में मदद मिली। उन्होंने कहा कि खिलाड़ी इस मनोबल और ले को क्वालीफायर में भी बरकरार रखेंगे।