breaking news New

क्रिकेट को ओलंपिक में शामिल किये जाने की राहुल द्रविड़ ने वकालत की

 क्रिकेट को ओलंपिक में शामिल किये जाने की राहुल द्रविड़ ने वकालत की

नयी दिल्ली। पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ ने क्रिकेट को ओलंपिक में शामिल किये जाने की वकालत की है। द्रविड़ ने किताब 'अ न्यू इनिंग्स' के लांच के लिए शुक्रवार को आयोजित वर्चुअल सेमिनार में कहा कि क्रिकेट को ओलंपिक में शामिल किया जाना चाहिए, यह खेल के लिए अच्छा होगा। क्रिकेट 1900 के बाद से ओलंपिक का हिस्सा नहीं है। हालांकि पिछले कुछ समय से यह मांग बराबर उठ रही है कि क्रिकेट को ओलंपिक में शामिल किया जाना चाहिए।

राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में क्रिकेट संचालन निदेशक द्रविड़ ने कहा कि क्रिकेट को ओलंपिक में शामिल करने को लेकर कई चुनौतियां सामने आएंगी लेकिन इससे खेल का विस्तार होगा। उन्होंने सुझाव दिया कि क्रिकेट को ओलंपिक में शामिल कराने की कोशिश की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि खेल के लिए यह बहुत अच्छा होगा कि टी-20 फॉर्मेट ओलंपिक का हिस्सा बने।

द्रविड़ ने कहा कि क्रिकेट कई देशों में खेला जाता है और वह चाहते हैं कि इस फॉर्मेट का और विस्तार हो। क्रिकेट आखिरी बार 1900 के पेरिस ओलंपिक में खेला गया था। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने हाल में अपने सदस्यों से कहा था कि वे क्रिकेट को ओलंपिक में शामिल करने के फायदों को लेकर रिपोर्ट तैयार करें।

आईपीएल में विभिन्न टीमों के लिए बतौर कप्तान और कोच अपना योगदान देने वाले द्रविड़ ने माना कि ओलंपिक में शामिल कराए जाने के प्रस्ताव में पिच को तैयार कराने संबंधित कई दिक्कतें आएंगी लेकिन इसके बावजूद उन्होंने इसे ओलंपिक में शामिल किए जाने की वकालत की।

उन्होंने कहा, ‘‘बेशक ओलंपिक में शामिल कराने में कई चुनौतियां सामने आएंगी। हर खेल की तरह क्रिकेट को भी सफल होने के लिए कई तरह की सुविधाओं की जरूरत होगी। हालिया संपन्न हुए आईपीएल के सफल होने के पीछे मुख्यत विकेट की गुणवत्ता एक बड़ा कारण है। ओलंपिक में वे देश भी हिस्सा लेते हैं जहां क्रिकेट नहीं खेला जाता है।’’