breaking news New

इस दशहरा पर बन रहे हैं ये शुभ संयोग, जाने कैसे मिलेगा लाभ

इस दशहरा पर बन रहे हैं ये शुभ संयोग, जाने कैसे मिलेगा लाभ

अच्‍छाई पर बुराई का प्रतीक दशहरा पर्व इस बार शुक्रवार 15 अक्टूबर दिन शुक्रवार को मनाया जाएगा। इस बार दशहरा सर्वार्थ सिद्धि, कुमार एवं रवि जैसे महा योग में मनाया जाएगा। सर्वार्थ सिद्धि योग एवं कुमार योग सूर्योदय से सुबह 09:16 तक तथा रवि योग पूरे दिन रात रहेगा। आइए जानते हैं दशहरा का शुभ मुहूर्त….

दशहरा शुभ मुहूर्त
दशमी तिथि 14 अक्टूबर को शाम 06 बजकर 52 बजे से प्रारंभ होगी, जो कि 15 अक्टूबर 2021 को शाम 06 बजकर 02 बजे समाप्त होगी। वहीं, श्रवण नक्षत्र 14 अक्टूबर 2021 की सुबह 09 बजकर 36 पर आरंभ होगा। यह नक्षत्र 15 अक्टूबर 2021 सुबह 09 बजकर 16 म‍िनट पर समाप्‍त होगा। 15 अक्टूबर को पूजन का समय दोपहर 02 बजकर 02 मिनट से लेकर दोपहर 2 बजकर 48 मिनट तक रहेगा।

ऐसे करें दशहरे के द‍िन पूजा
दशहरे की पूजा के ल‍िए दशहरे के दिन सुबह ब्रह्ममुहूर्त में उठकर, नहा-धोकर साफ-सुथरे वस्त्र पहने और गेहूं या चूने से दशहरे की प्रतिमा बनाएं। गाय के गोबर से 9 गोले व 2 कटोरियां बनाकर, एक कटोरी में सिक्के और दूसरी कटोरी में रोली, चावल, जौ व फल रखें। अब प्रतिमा को केले, जौ, गुड़ और मूली अर्पित करें। यदि बहीखातों या शस्त्रों की पूजा कर रहे हैं तो उन पर भी ये सामग्री जरूर अर्पित करें। इसके बाद यथाशक्ति दान-दक्षिणा दें और गरीबों को भोजन कराएं। इसके बाद जब रावण दहन हो जाए तो शमी की पत्तियां अपने परिजनों को दे दें फ‍िर सभी बड़े-बुजुर्गों के पैर छूकर उनसे आशीर्वाद प्राप्त करें।