breaking news New

बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली ने कहा -फाइनल में पहुंचने की उम्मीद करना था बेकार , ठीक नहीं था हमारा प्रदर्शन

 बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली ने कहा -फाइनल में पहुंचने की उम्मीद करना था बेकार , ठीक नहीं था हमारा प्रदर्शन

अबु धाबी।  सनराइजर्स हैदराबाद से आईपीएल के एलिमिनेटर में छह विकेट से हारकर टूर्नामेंट से बाहर होने के बाद रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली ने कहा कि हम मैच जीतने के लिए पर्याप्त स्कोर नहीं बना पाये और इस टूर्नामेंट में हमारा प्रदर्शन ऐसा नहीं था जो हम फाइनल में पहुंचने की उम्मीद कर सकते।

हैदराबाद ने शुक्रवार को बेंगलुरु को सात विकेट पर 131 रन के स्कोर पर रोक लिया और इसके बाद 19.4 ओवर में चार विकेट पर 132 रन बनाकर जीत हासिल कर ली। इस हार के साथ ही बेंगलुरु इस टूर्नामेंट से बाहर हो गयी और विराट का लगातार आठवें साल अपनी कप्तानी में खिताब से हाथ खाली रह गया।

टूर्नामेंट से बाहर होने के बाद काफी निराश नजर आ रहे विराट ने मैच के बाद कहा,अगर आप पहली पारी की बात करेंगे तो हमने पर्याप्त रन नहीं बनाये। उन्होंने (सनराइजर्स हैदराबाद) ने हमें पहली पारी में काफी दबाव में रखा। उनके लिये अच्छी बात यह रही कि हमने इतने रन नहीं बनाये जिससे उन पर दबाव आ पाता। हमने कुछ आसान विकेट गंवाए और वे कुछ मौकों पर भाग्यशाली भी रहे। हमें और अधिक खुलकर बल्लेबाजी करनी चाहिए थी। लेकिन बल्लेबाज कुछ नर्वस थे या वे हिचकिचा रहे थे। हमारी पारी में ऐसे दौर नहीं आये जहां हम मैच को विपक्षी टीम से दूर ले जा पाते।”

विराट ने कहा, “हमने हैदराबाद के गेंदबाजों को वैसी ही गेंदबाजी करने दिया जैसा वे चाहते थे। हमने उन पर किसी तरह का दबाव नहीं बनाया।पिछले दो-तीन मैचों में हमारे शॉट सीधे फील्डरों के हाथों में गए और हमें इसका नुकसान उठाना पड़ा। स्थिति ऐसी थी कि अच्छे शॉट भी फील्डरों के हाथों में जा रहे थे।”

कप्तान ने कहा, “पिछले चार-पांच मैच मिले-जुले प्रदर्शन वाले रहे। कई खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन किया। देवदत्त पडिकल उनमें से एक रहे और मोहम्मद सिराज ने अच्छी वापसी की। युजवेंद्र सिंह चहल ने हमेशा की तरह अच्छा प्रदर्शन किया। एबी डिविलियर्स भी हमेशा की तरह अच्छा खेले। देवदत्त ने अपनी पूरी दक्षता के साथ रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के लिए खेला और 400 से ज्यादा रन बनाये। मैं उनके लिए बहुत खुश हूं। अन्य खिलाड़ियों ने भी अपना योगदान दिया लेकिन यह पर्याप्त नहीं रहा।”

विराट ने कहा, “ इससे पता चलता है कि टीमों के पास ताकत है। आईपीएल में प्रत्येक टीम के पास मजबूत खिलाड़ी हैं और इस वर्ष का आईपीएल बहुत प्रतिस्पर्धी रहा। कोई टीम स्पष्ट रूप से दावेदार नहीं थी क्योंकि हर टीम में मजबूत खिलाड़ी हैं। एक कारण यह भी है कि मैच तीन स्थानों पर ही खेले जा रहे थे। घर में या बाहर खेलने का कोई एडवांटेज नहीं था। यही वजह है कि इस बार का आईपीएल काफी प्रतिस्पर्धी रहा।”

विराट ने हालांकि सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ कहा, “यह अद्भुत है कि हमें इस वर्ष का आईपीएल खेलने का अवसर मिला। यह खेल के लिए बड़ी बात है क्योंकि हालात ऐसे नहीं थे और हमने भी इस आयोजन में अपना योगदान दिया। हम हर वर्ष की तरह हमारा समर्थन करने वाले प्रशंसकों को धन्यवाद देना चाहते हैं।”