29.2 C
Chhattisgarh

India’s most powerful woman : भारत की मोस्ट पॉवरफुल वुमैन बनी नीता अंबानी,निर्मला सीतारमण 

Breaking NewsIndia's most powerful woman : भारत की मोस्ट पॉवरफुल वुमैन बनी नीता अंबानी,निर्मला सीतारमण 

India’s most powerful woman : भारत की मोस्ट पॉवरफुल वुमैन बनी नीता अंबानी,निर्मला सीतारमण 

India’s most powerful woman : भारत की मोस्ट पॉवरफुल वुमैन बनी नीता अंबानी,निर्मला सीतारमण

India's most powerful woman :
India’s most powerful woman : भारत की मोस्ट पॉवरफुल वुमैन बनी नीता अंबानी,निर्मला सीतारमण

 

India’s most powerful woman : नयी दिल्ली !  केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्माला सीतारमण और रिलायंस इंडस्ट्रीज की निदेशक नीता अंबानी को फॉर्च्यून इंडियाज मोस्ट पॉवरफुल वुमैन इन बिजनेस-2022 की रैंकिंग में संयुक्त रूप से पहले पायदान पर जगह मिली है। चैनल की मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) लीना नायर तीसरे स्थान पर हैं।

India’s most powerful woman : रैंकिंग में फैशन ब्रांड नायका की सीईओ फाल्गुनी नायर, आईएमएफ की डिप्टी मैनेजिंग डायरेक्टर गीता गोपीनाथ, सेबी की चेयरपर्सन माधबी पुरी बुच और इंडिया टुडे ग्रुप की वाइस चेयरपर्सन कली पुरी ने भी जगह बनायी है। इसमें शामिल होने वाली ईशा अंबानी सबसे युवा महिला हैं।

India’s most powerful woman : फॉर्च्यून ने नीता अंबानी को मल्टी टास्कर (एक वक्त में अधिक कार्य करने वाली) बताया है। फॉर्च्यून ने कहा कि नीता अंबानी देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस की निदेशक और रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन होने के साथ रिलायंस के फ्लैगशिप बिजनेस एंपायर और परिवार के बीच कड़ी का काम करती हैं।

India’s most powerful woman : पत्रिका ने कहा कि व्यक्तिगत व्यस्तताओं के बावजूद पिछले वर्ष उन्होंने जियो वर्ल्ड सेंटर और जियो इंस्टीट्यूट को खड़ा करने में अहम भूमिका निभाई। रिलायंस फाउंडेशन के शिक्षा और स्वास्थ्य कार्यक्रमों का नेतृत्व किया। दक्षिण अफ्रीका और यूएई में क्रिकेट टी-20 टीम के अधिग्रहण को मुकाम तक पहुंचाया।

also read : https://jandhara24.com/news/107339/cbse-result-2022-class-12th-class-12th-result-can-be-seen-on-this-website-cbseresults-nic-in/

फॉर्च्यून नेसीतारमण के लिए कहा कि अंतरराष्ट्रीय चुनौतियों से उपजी विकट आर्थिक परिस्थितियों का उन्होंने जमकर सामना किया। देश में महंगाई काबू में रखने, राजस्व बढ़ाने और अवसंरचना के लिए धन का इंतजाम करने के लिए उन्हें पहला स्थान मिला है।

पत्रिका ने कहा है कि आर्थिक मोर्चे पर केन्द्रीय वित्त मंत्री ने कई कड़े फैसले लिए। आत्मनिर्भर भारत के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज का जिक्र भी उनकी उपलब्धियों में शामिल है।

also read : National Herald case : ईडी ने यंग इंडिया के कार्यालय को किया सील

Check out other tags:

Most Popular Articles