Indian Railways नौ हजार से अधिक विशेष ट्रेनें चलाने एवं भीड़ से निपटने रेलवे ने कसी कमर 

Indian Railways

Indian Railways नौ हजार से अधिक विशेष ट्रेनें चलाने एवं भीड़ से निपटने रेलवे ने कसी कमर

 

Indian Railways नयी दिल्ली !  भारतीय रेलवे ने गर्मियों में यात्रियों की भारी आवाजाही के लिए नौ हजार से अधिक विशेष ट्रेनें चलाने के साथ पेयजल उपलब्ध कराने एवं भीड़ प्रबंधन की योजना बनायी है।


भारतीय रेलवे के अनुसार रेलवे ने 01 अप्रैल से 21 अप्रैल के दौरान 41.16 करोड़ यात्रियों को यात्रा कराई है।पिछले दो दिनों (20 और 21 अप्रैल) में 3.38 करोड़ यात्रियों को यात्रा की है और बीते 7 दिनों (15-21 अप्रैल) में 13.69 करोड़ यात्रियों ने यात्रा की है।


रेल मंत्रालय के अनुसार जोनल रेलवे को रेलवे स्टेशनों पर पीने के पानी की उपलब्धता सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है। इस साल रेलवे द्वारा ग्रीष्म ऋतु के दौरान रिकॉर्ड संख्या में 9111 अतिरिक्त ट्रेनें संचालित की जा रही हैं।


Indian Railways  मंत्रालय के अनुसार सभी प्रमुख और महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशनों पर भीड़ नियंत्रण की विस्तृत व्यवस्था की गई है। भीड़ को व्यवस्थित तरीके से नियंत्रित करने के लिए सभी गतिविधियों की निगरानी के लिए इन स्टेशनों पर वरिष्ठ अधिकारी तैनात हैं। सामान्य श्रेणी के डिब्बों में प्रवेश के लिए कतार प्रणाली सुनिश्चित करने के लिए प्रारंभिक स्टेशनों पर रेल सुरक्षा बल (आरपीएफ) के कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। भीड़-भाड़ वाले इलाकों पर कड़ी नजर रखने और यात्रियों को वास्तविक समय पर सहायता प्रदान करने के लिए सीसीटीवी नियंत्रण कक्ष में कुशल आरपीएफ कर्मचारियों को तैनात किया गया है।

 

भारी भीड़ के दौरान भगदड़ जैसी स्थिति से बचने के लिए भीड़ को सुचारू रूप से नियंत्रित करने के लिए सरकारी रेलवे पुलिस (जीआरपी) और रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के कर्मचारियों को फुट-ओवर ब्रिज पर तैनात किया जा रहा है।

supreme court breaking 14 वर्षीया दुष्कर्म पीड़िता को गर्भपात की अनुमति


Indian Railways  रेल मंत्रालय ने बताया कि यात्रियों को पूछताछ में मदद के लिए अतिरिक्त सहायता डेस्क और काउंटर स्थापित किए गए हैं। रेलवे लगातार मांग की निगरानी कर रहा है और उसी के अनुरूप व्यवस्थाओं को अद्यतन कर रहा है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

MENU