31.2 C
Chhattisgarh

Health news- वैरिकोज वेन्स, जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

HealthHealth news- वैरिकोज वेन्स, जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

Health news- वैरिकोज वेन्स, जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

Health news- वैरिकोज वेन्स, जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज

कुछ लोगों के पैरों और टांगों में रस्सी की तरह मोटी गुच्छेदार नीले रंग की उभरी हुई नसें दिखाई देती हैं जिसे डाक्टरी भाषा में वेरिकॉज वेन्स भी कहते हैं। लेकिन इन नीली नसों का आकार बड़ा हो रहा है या ये ज्यादा उभरी हुई है और सूजन भी तो आपको इस ओर गौर करने की जरूरत है। ज्यादातर लोग इन वेरिकोज वेन्स को अनदेखा करते हैं जिसके आगे चलकर गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। बहुत से लोगों की नसों में खून के थक्के जम जाते हैं जिससे ब्लॉकेज की समस्या हो जाती है जो खतरनाक होती है।

एक्सपर्ट की मानें तो वैरिकोज वेन्स लगभग एक तिहाई युवाओं में दिखाई देती है। जब स्पाइडर वेन्स, वैरिकोज वेन्स को चारों ओर से घेर लेती हैं तो उनमें दर्द और खुजली होने लगती है।अगर नसें मुड़ी हुई, सूजी हुई या बैंगनी रंग की है और उसके आसपास आपको खुजली हो रही है। पैरों में सूजन के साथ दर्द हो रहा है तो सारे लक्षण वेरिकोज वेन्स के हैं।

Also Read – Health news- आपको भी ज्यादा थकान महसूस हो तो हो जाए सावधान

इसके कारण क्या है?

यह वेरिकोज नसें तब दिखती हैं वह नसों की दीवारें कमजोर हो जाती है। ब्लड का प्रैशर बढ़ने से नसों पर भी दबाव बढ़ता है जिससे वह और चौड़ी होने लगती है और खिंचने लगती हैं। इससे एक दिशा में खून का प्रवाह करने वाले वॉल्व अच्छे से काम करना बंद कर देते हैं। इससे खून नसों में ही जमा होने लगता है और इनमें सूजन आने लगती है और मुडने लगती है।
नसों की दीवारें कमजोर होने के भी कई कारण हैं जैसेः-

.हार्मोंन्स की गड़बड़ी,
.मोटापा

.लंबे समय तक एक पोजिशन में बैठे या खड़े रहना
.उम्र बढ़ने के कारण

पुरुषों से ज्यादा महिलाओं में इसका ज्यादा जोखिम होता है। गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करना या मेनोपॉज से हार्मोनल बदलाव भी इसका कारण हो सकते हैं।

वैरिकोज नसों से खतरा

यह व्यक्ति की हैल्थ स्थिति पर निर्भर करता है क्योंकि यह कुछ लोगों में अल्सर, ब्लीडिंग का कारण भी बन सकती है। वहीं इससे खून में थक्के जमने की संभावना काफी अधिक हो जाती है।

वैरिकोज नसों का इलाज

.पैरों में नीली या बैंगनी नसें दिख रही हैं तो घबराएं नहीं बल्कि किसी डॉक्टर से संपर्क करें, वह आपको सही सलाह दे पाएगा। इसके अलावा हैल्दी लाइफस्टाइल पर ध्यान दें।
.इनसे बचने के लिए अपना वजन कंट्रोल में रखें।
.डाइट में हाई-फाइबर लें और नमक कम खाएं।
.हाई-हील्स और टाइट जूते पहनने से बचें।

.पैरों में दर्द होने पर सोते समय पैरों के नीचे तकिया रखें।
.एक ही पोजिशन में ना बैठे रहें। पैरों को आराम दें।
.फिजिकल एक्टिविटी रखें और योग व एक्सरसाइज करते रहें।

कुछ देसी इलाज भी आप फॉलो कर सकते हैं।

.जैसे नारियल तेल को गर्म करके इससे प्रभावित एरिया की मालिश करें।

.खाने में भी नारियल तेल का इस्तेमाल करें। खाने में लहसुन का इस्तेमाल जरूर करें।
.वैरिकोज वेन्स के लिए एप्पल साइडर विनेगर एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। वैरिकोज वेन्स पर एप्पल साइडर विनेगर अप्लाई करें और पैर को कपड़े से लपेटें। इसे 30 मिनट तक रखें।

Check out other tags:

Most Popular Articles