aajkijandhara

Transfer ट्रांसफर के नाम पर महिला कर्मचारी को अपने पास बुलाने का ऑडियो सोशल मिडिया पर वायरल

Ganga Vilas River Cruise : नदी पर तैरते इस फाइव स्टार होटल जैसे क्रूज के दीवाने हो जाएंगे आप…जानिए खासियत

Ganga Vilas River Cruise : नदी पर तैरते इस फाइव स्टार होटल जैसे क्रूज के दीवाने हो जाएंगे आप...जानिए खासियत

Ganga Vilas River Cruise : नदी पर तैरते इस फाइव स्टार होटल जैसे क्रूज के दीवाने हो जाएंगे आप…जानिए खासियत

Ganga Vilas River Cruise :नई दिल्ली: विश्व के सबसे लंबा रिवर क्रूज गंगा विलास को पीएम नरेंद्र मोदी शुक्रवार को वाराणसी से वर्चुअली हरी झंडी दिखाकर रवाना करने वाले है। यह भव्य और दिव्य रिवर क्रूज, क्रूज स्विट्जरलैंड के 32 पर्यटकों के साथ वाराणसी से बांग्लादेश के रास्ते असम के डिब्रूगढ़ तक तकरीबन 3200 किलोमीटर की यात्रा 51 दिनों में पूरी करने

Ganga Vilas River Cruise : नदी पर तैरते इस फाइव स्टार होटल जैसे क्रूज के दीवाने हो जाएंगे आप...जानिए खासियत
Ganga Vilas River Cruise : नदी पर तैरते इस फाइव स्टार होटल जैसे क्रूज के दीवाने हो जाएंगे आप…जानिए खासियत

Famous singer Lisa Marie Presley passed away : फिल्म जगत को लगा बड़ा झटका, मशहूर सिंगर का 54 साल की उम्र में निधन

Ganga Vilas River Cruise :वाला है। यात्रा में 27 नदियों के साथ 50 पर्यटक स्थल जुड़ने वाले है।  इसके फर्नीचर, क्रॉकरी, कमरों के रंग व डिजाइन में 1960 के उपरांत के भारत की झलक दिखेगी। क्रूज की जो तस्वीरें भी देखने के लिए मिल चुकी है, वे विहंगम हैं और इसकी भव्यता का नजारा पेश करती हैं।

दुनिया की सबसे लंबी क्रूज यात्रा पर रवाना होने के लिए तैयार गंगा विलास क्रूज आत्मनिर्भर इंडिया का उदाहरण है। क्रूज का इंटीरियर देश की संस्कृति और धरोहर को ध्यान में रखकर डिजाइन भी किया जा चुका है।

इंटीरियर में सफेद, गुलाबी, लाल और हल्के रंगों का इस्तेमाल किया गया है। वुडेन फ्लोरिंग और रंगों का बेहतर समन्वय पर्यटकों को सबसे अधिक पसंद भी आने वाले है। गंगा विलास क्रूज की आधिकारिक जलयात्रा सितंबर से शुरू हो सकती है, फिर भी क्रूज की बुकिंग अगले दो वर्षों के लिए फुल हो चुकी है।

https://jandhara24.com/news/136968/sukma-chhattisgarh/

गंगा क्रूज के डायरेक्टर राज सिंह ने कहा है कि यह क्रूज पूरी तरह से इंडिया में निर्मित हैं। देश भर के कई राज्यों के 40 क्रू के सदस्य हैं। क्रूज की लंबाई साढ़े 62 मीटर और चौड़ाई 12.8 मीटर है। जिसमे पर्यटकों के रहने के लिए कुल 18 सुइट्स हैं। साथ में एक 40 सीटर रेस्टोरेंट, स्पा रूम और तीन सनडेक हैं। साथ में म्यूजिक का भी इंतजाम

भी किया जा चुका है। 32 पर्यटकों सहित कुल 80 यात्रियों के ठहरने की सुविधा भी दी गई है।  गंगा विलास में एक सुइट 38 लाख रुपये में बुक किए गए हैं। सुइट को कई यात्रियों ने मिलकर बुक कर चुके है। ऐसे में एक यात्री के भाग में 13 लाख रुपए का खर्च आया है। अलग-अलग ट्रेवल स्लॉट के लिए किराया अलग अलग कहा जा रहा है।

इनक्रेडिबल बनारस पैकेज का मूल्य 1.12 लाख रुपये है। इस पैकेज में गंगा घाट से लेकर रामनगर तक का पर्यटन शामिल है। यह यात्रा चार दिन की होने वाली है।

वहीं, बनारस में एक दिन की यात्रा का किराया 300 डॉलर यानी तकरीबन 25 हजार रुपये है। कोलकाता-बनारस पैकेज का किराया 4 लाख 37 हजार 250 रुपये है। कोलकाता से बांग्लादेश की राजधानी ढाका तक की यात्रा का किराया भी इतना ही बताया जा रहा है। कोलकाता से मुर्शिदाबाद राउंड ट्रिप (8 दिन) के लिए 2 लाख 92 हजार 875 रुपये देने होने वाले है।

Ganga Vilas River Cruise : नदी पर तैरते इस फाइव स्टार होटल जैसे क्रूज के दीवाने हो जाएंगे आप...जानिए खासियत
Ganga Vilas River Cruise : नदी पर तैरते इस फाइव स्टार होटल जैसे क्रूज के दीवाने हो जाएंगे आप…जानिए खासियत

अंतरा क्रूज प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक राज सिंह का कहना है कि क्रूज में तीन डेक हैं। तीनों डेक पर अलग-अलग सुविधाएं हैं। क्रूज पूरी तरह से इको फ्रेंडली है। कचरों को एक स्थान एकत्र कर सुरक्षित रूप से निस्तारित किया जाता है।

प्रदूषण का स्तर शून्य रखने के र्लिए इंधन के रूप में हाई स्पीड डीजल का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसमें लगे ऑयल स्प्रेडर्स डीजल को गंगा में जाने से बचाते हैं। क्रूज में 60 हजार लीटर पानी स्टोर करने की क्षमता है।

गंगा विलास क्रूज की आधिकारिक जलयात्रा सितंबर से शुरू होने वाली है, फिर भी क्रूज की बुकिंग अगले दो वर्षों के लिए फुल हो चुकी है। जिसकी पुष्टि क्रूज के निदेशक राज सिंह ने भी की है।  निदेशक के मुताबिक,

गंगा में क्रूज के संचालन से पर्यटक उत्साहित हैं। विदेशी पर्यटक भी खूब आ रहे हैं। गंगा विलास काशी से बोगीबिल की यात्रा पूरी करेगा, फिर कोलकाता से वाराणसी की सैर पर लौटने वाले है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *