31.2 C
Chhattisgarh

drug free : कमांडेड रघुवंश कुमार के निर्देश में 223 वी. वाहिनी सीआरपीएफ ने नशे से होने वाले दुष्परिणाम के प्रति रैली निकालकर लोगों को नशा मुक्त होने जागरूक किया

Worlddrug free : कमांडेड रघुवंश कुमार के निर्देश में 223 वी. वाहिनी सीआरपीएफ ने नशे से होने वाले दुष्परिणाम के प्रति रैली निकालकर लोगों को नशा मुक्त होने जागरूक...

drug free : कमांडेड रघुवंश कुमार के निर्देश में 223 वी. वाहिनी सीआरपीएफ ने नशे से होने वाले दुष्परिणाम के प्रति रैली निकालकर लोगों को नशा मुक्त होने जागरूक किया

Drug free : Under the instructions of Commanded Raghuvansh Kumar, 223 V. Corps CRPF took out a rally against the ill-effects of drugs and made people aware of being drug free.

कृष्णा नायक दोरनापाल

drug free,दोरनापाल :-आज 26 जून 2022 को अन्तर्राष्ट्रीय नशा विरोधी ( मुक्त ) दिवस के उपलक्ष्य में दोरनापाल स्थित सीआरपीएफ 223 वीं वाहिनी के कमांडेंट रघुवंश कुमार के निर्देशन पर डिप्टी कमांडेंट लोकेश कुमार ,डॉक्टर संतोष कुमार के मौजूदगी में 223 वीं वाहिनी हेडक्वेटर से अधिकारियों वा जवानों ने रैली निकाल कर लोगो को नशा से होने वाले दुष्परिणाम के प्रति जागरूक करने के साथ नशा से होने वाले नुकसान के बारे में जानकारी दी

Also read : ShivSena के 16 बागी विधायकों को नोटिस

drug free,नशीले प्रदार्थ के सेवन से युवा वर्ग के साथ बच्चे और महिलाओं का एक बड़ा हि‍स्सा नशे का शिकार हो रहा है

drug free,नशा, एक ऐसी बीमारी है जो कि युवा पीढ़ी को लगातार अपनी चपेट में लेकर उसे कई तरह से बीमार कर रही है। शराब, सिगरेट, तम्‍बाकू एवं ड्रग्‍स जैसे जहरीले पदार्थों का सेवन कर युवा वर्ग का एक बड़ा हि‍स्सा नशे का शिकार हो रहा है। नशे की लत ने इंसान को उस स्तर पर लाकर खड़ा कर दिया है कि अब व्‍यक्‍ति मादक पदार्थों के सेवन के लिए किसी भी हद तक जा सकता है, वह नशे के लिए जुर्म भी कर सकता है। नशे के मामले में महिलाएं भी पीछे नहीं है। महिलाओं द्वारा भी मादक पदार्थों का बहुत अधिक मात्रा में सेवन किया जाता है!

Also read : Odia actor’s HOUSE में फंदे से लटकता मिला उड़िया एक्टर का शव

drug free ,डिप्टी कमांडेंट लोकेश कुमार ने लोगो को नशे से होने वाली हानि के बारे में जानकारी देते हुए बताया

drug free, नशा करने वाला व्‍यक्‍ति हमेशा चिढ़ा हुआ और मानसिक तनाव से ग्रसित होते है।नशा करने वाला व्‍यक्‍ति आर्थिक, मानसिक एवं शारीरिक तौर से कमजोर होते है। साथ ही मादक पदार्थों के सेवन से सबसे बड़ी हानि, स्वास्थ्य की हानि है। इससे आपके शरीर के कई अंगों पर एक साथ विपरीत असर पड़ता है। खास तौर से यह आपके दिमाग को भी अपनी चपेट में ले लेता है। और मनुष्य की आयु भी कम हो जाती है

Check out other tags:

Most Popular Articles