27.2 C
Chhattisgarh

World mosquito day स्वास्थ्य केंद्रों में मनाया गया विश्व मच्छर दिवस

Chhattisgarh NewsWorld mosquito day स्वास्थ्य केंद्रों में मनाया गया विश्व मच्छर दिवस

World mosquito day स्वास्थ्य केंद्रों में मनाया गया विश्व मच्छर दिवस

World mosquito day विश्व मच्छर दिवस के अवसर पर जिले के अस्पतालों में किए गए जागरुकता कार्यक्रम

World mosquito day
World mosquito day स्वास्थ्य केंद्रों में मनाया गया विश्व मच्छर दिवस

World mosquito day  राजनांदगांव। मच्छरों के काटने से होने वाले रोगों के प्रति लोगों को जागरुक करने के लिए जिला अस्पताल सहित जिले के सभी स्वास्थ्य केंद्रों में विश्व मच्छर दिवस मनाया गया।

https://jandhara24.com/news/109790/the-dead-body-of-the-middle-aged-found-in-the-breaking-kachana-pond-sensation-spread-in-the-area/

World mosquito day इस अवसर पर जन स्वास्थ्य सुरक्षा को गंभीरता से लेते हुए मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया, जापानी इंसेफेलाइटिस, फाइलेरिया और जीका वायरस जैसी बीमारियों के कारण, लक्षण तथा उपचार पर विस्तृत चर्चा की गई। वहीं यह जानकारी भी दी गई कि, सभी मच्छर मलेरिया का संचार नहीं करते बल्कि केवल संक्रमित मादा एनोफिलीज मच्छर से ही लोगों को मलेरिया हो सकता है।

World mosquito day हर साल 20 अगस्त को विश्व मच्छर दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह दिवस पेशेवर चिकित्सक डॉ. रोनाल्ड रॉस की स्मृति में मनाया जाता है, जिन्होंने वर्ष 1897 में यह खोज की थी कि, मनुष्य में मलेरिया जैसे रोग के संचरण के लिए मादा मच्छर ही उत्तरदायी है।

World mosquito day
World mosquito day स्वास्थ्य केंद्रों में मनाया गया विश्व मच्छर दिवस

World mosquito day इसी कड़ी में इस वर्ष कलेक्टर डोमन सिंह के दिशा-निर्देशन तथा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथिलेश चौधरी के मार्गदर्शन में जिले के शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में प्रेरक नारा लेखन व जागरुकता रैली के माध्यम से यह संदेश देने का प्रयास किया गया कि मादा एनोफिलीज मच्छर के काटने से मलेरिया, क्यूलेक्स मच्छर के काटने से हाथी पांव (फाइलेरिया) तथा एडिज मच्छर काटने से डेंगू बुखार होता है।

World mosquito day साथ ही जिला चिकित्सालय सहित जिले के सभी स्वास्थ्य केंद्रों में मच्छरों से फैलने वाली बीमारियों से बचाव हेतु जागरुकता से संबंधित बैनर-पोस्टर लगाए गए तथा मरीजों की मलेरिया जांच की गई। अस्पतालों में मरीजों को जानकारी दी गई किए मच्छर का छोटा डंक स्वास्थ्य के लिए बड़ा खतरा पैदा कर सकता है।

World mosquito day  मच्छर के काटने से मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया, जापानी इंसेफेलाइटिस, फाइलेरिया और जीका वायरस जैसे रोग हो सकते हैं। इस दौरान जिला मलेरिया सलाहकार संगीता पांडेय ने कहाः डेंगू मच्छर बरसात के मौसम में पनपने वाला मच्छर है। इसका वायरस डीईएनवी-1, डीईएनवी-2, डीईएनवी-3, डीईएनवी-4 होता है। इसके काटे जाने पर तेज बुखार आता है।

World mosquito day
World mosquito day स्वास्थ्य केंद्रों में मनाया गया विश्व मच्छर दिवस

World mosquito day इसे हड्डी तोड़ बुखार भी कहा जाता है। डेंगू दिन में काटने वाले मादा मच्छर एडीज एजिप्टी से फैलता है। इसमें व्यक्ति को तेज बुखार, सिरदर्द, आंखों के पीछे दर्द, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द और शरीर पर फंसियां हो जाती हैं। मलेरिया बीमारी, मादा एनोफिलीज मच्छर के काटे जाने से होता है।

यह मच्छर भी बरसात के मौसम में ही पनपता है। मलेरिया रोग परजीवी प्लाजमोडियम से फैलने वाला रोग है। चिकनगुनिया भी एक तकलीफदेह रोग है जिसमें तेज बुखार और जोड़ों में दर्द होता है।

World mosquito day इस संबंध में सीएमएचओ डॉ. मिथिलेश चौधरी ने बतायाः बारिश के दिनों में मच्छरों के पनपने और कई बीमारियों के संचरण हेतु अनुकूल परिस्थितियां निर्मित हो जाती हैं। विश्वभर में मच्छरों की हजारों प्रजातियां हैं, जिनमें से कुछ बहुत ज्यादा हानिकारक होती हैं।

Imran Khan on Rushdie : रश्दी पर इमरान का कमाल

World mosquito day विश्व मच्छर दिवस के अवसर पर मच्छरों से फैलने वाले रोगों के प्रति लोगों को जागरुक करने का प्रयास करते हुए जिले में विभिन्न प्रेरक कार्यक्रम आयोजित किए गए।

Check out other tags:

Most Popular Articles