aajkijandhara

Transfer ट्रांसफर के नाम पर महिला कर्मचारी को अपने पास बुलाने का ऑडियो सोशल मिडिया पर वायरल

Dantewada Agricultural Science : प्राकृतिक खेती विषय पर किसान दिवस सह जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन

Dantewada Agricultural Science : प्राकृतिक खेती विषय पर किसान दिवस सह जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन

Dantewada Agricultural Science : दंतेवाड़ा कृषि विज्ञान केन्द्र, दन्तेवाड़ा के दण्डकारण्य सभागार कक्ष पर दिनांक 23.12.2022 को किसान दिवस के उपलक्ष में प्राकृतिक खेती जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में उपस्थित सभी अतिथियों, कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिकों एवं विभिन्न ग्रामों से उपस्थित कृषकों ने मान. केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के उद्बोधन को सुने।

TOP 10 News Today 24 December 2022 : भारत जोड़ो यात्रा पहुंची दिल्ली, बंगाल में आज शहीदों को दी जाएगी श्रद्धांजलि, माता वैष्णो देवी के दर्शन अब बिना मास्क नहीं, समेत सुबह की 10 बड़ी खबरे

Dantewada Agricultural Science : उन्होने अपने उद्बोधन में कृषकों को प्राकृतिक खेती के महत्व के बारे में बताये साथ ही प्राकृतिक खेती को अपनाने का आग्रह किये। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप मेंबलबीर सिंह कच्छ, निदेशक आकाशवाणी जगदलपुर उपस्थित रहें। केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख श्री संतोष कुमार धुव्र ने प्राकृतिक खेती के महत्व पर विस्तार पूर्वक किसानों को

जानकारी दिया तथा प्राकृतिक खेती को अपनाने एवं बढ़ावा देने पर जोर दिये। तत्पश्चात कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री बलबीर सिंह कच्छ, निदेशक आकाशवाणी जगदलपुर ने सभी किसानों से हल्बी भाषा में प्राकृतिक खेती के महत्व एवं रासायनिक खेती के दुषप्रभाव पर विस्तार पूर्वक चर्चा कर हल्बी गीत के माध्यम से भी प्राकृतिक खेती करने के लिये

प्रोत्साहित किये। तत्पश्चात डाॅ. भुजेन्द्र कोठारी, प्रक्षेत्र प्रबंधक ने प्राकृतिक खेती के लिये बीजांमृत, घनजीवांमृत, जीवांमृत, निमास्त्र, अग्नियास्त्र एवं ब्रम्हास्त्र के निमार्ण में उपयोग होने वाले आवश्यक सामग्री, बनाने की विधि एवं उनके अनुप्रयोग की विधि पर विस्तार पूर्वक जानकारी दिये। केन्द्र के श्री अनिल कुमार ठाकुर, विषय वस्तु विशेषज्ञ, कृषि मौसम विज्ञान

https://jandhara24.com/news/133520/former-ceo-of-icici-bank-chanda-kochhar-arrested/

ने प्राकृतिक खेती पर चलचित्र के माध्यम से किसानों को जानकारी दिये। तत्पश्चात डाॅ. अंजुलता सुमन पात्रे, वरिष्ठ अनुसंधान अध्येता-चिराग परियोजना ने प्राकृतिक खेती में उपयोग होने वाले घटकों के बारे में जानकारी दिया एवं सूक्ष्म जीव और केंचुए के बारे बताए। तत्पश्चात सभी कृषकों को जीवांमृत एवं बीजांमृत का प्रायोगिक कार्य कराया गया। इस कार्यक्रम

को सफल बनाने हेतु कृषि विज्ञान केन्द्र, दन्तेवाडा के अधिकारी एवं कर्मचारी श्री सुरेन्द्र पोडयाम (कार्यक्रम सहायक, कम्प्यूटर), सुश्री वंदना चडार, श्री लेखेश श्रीवास्तव, का सराहनीय योगदान रहा। इस कार्यक्रम में जिले के विभिन्न ग्रामों से 250 कृषक उपस्थित थे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *