27.2 C
Chhattisgarh

Chhattisgarh news hindi today भगवान श्री कृष्ण जन्म की कथा का विस्तार से किया वर्णन

Chhattisgarh NewsChhattisgarh news hindi today भगवान श्री कृष्ण जन्म की कथा का विस्तार से किया वर्णन

Chhattisgarh news hindi today भगवान श्री कृष्ण जन्म की कथा का विस्तार से किया वर्णन

chhattisgarh news hindi today भगवान श्री कृष्ण जन्म की कथा का विस्तार से किया वर्णन

Chhattisgarh news hindi today

Chhattisgarh news hindi today सक्ती । नगर के हटरी चौक में पितृ मोक्ष एवं गया श्राद्ध के अंतर्गत सेठ कनीराम मांगेराम अग्रवाल खरकिया परिवार द्वारा आयोजित संगीतमय श्रीमद् भागवत कथा के चतुर्थ दिवस व्यासपीठ से आचार्य राजेंद्र जी महाराज ने अजामिल उद्धार , गजेंद्र मोक्ष , समुद्र मंथन ,वामन अवतार , श्री राम चरित्र एवं भगवान श्री कृष्ण जन्म की कथा का विस्तार से वर्णन किया । आचार्य राजेंद्र महाराज ने बताया कि संसार के समस्त प्राणी अपने कर्मों के कारण जन्म आते हैं किंतु भगवान का जन्म करुणा वश ही होता है l

https://jandhara24.com/news/109790/the-dead-body-of-the-middle-aged-found-in-the-breaking-kachana-pond-sensation-spread-in-the-area/
Chhattisgarh news hindi today संसार के समस्त प्राणी अंततः काल के ही अधीन है , इन्हें अपने प्रारब्ध को भोगना ही पड़ता है , इसलिए नया कोई प्रारब्ध नहीं कमाना चाहिए । अपने प्रारब्ध के कारण ही भीष्म पितामह को तीरों की शैया पर प्राण त्यागने पड़े । अजामिल नाम का ब्राह्मण अपने प्रारब्ध के कारण ही एक दासी स्त्री को अपनी जीवनसंगिनी बना लिया , और भगवान के नाम का आश्रय लेकर अपनी मृत्यु भी सुधार लिया था ।

Chhattisgarh news hindi today आचार्य ने कहा कि वस्तु शक्ति कभी भी श्रद्धा की अपेक्षा नहीं रखती , चाहे उसे कोई माने अथवा ना माने । जिस प्रकार आग को हम जानबूझकर अथवा अज्ञानता से भी स्पष्ट करें हम जलेंगे ही, उसी प्रकार जहर को नहीं मानते हुए यदि किसी ने पी लिया तो वह भी अपना असर दिखाएगा ही , ठीक उसी प्रकार भगवान के नाम को चाहे कोई जानबूझकर अथवा अज्ञानता से भी लेवे उसे भगवन नाम आश्रय का लाभ मिलता ही है ।

Chhattisgarh news hindi today यही तत्वज्ञान है । श्री राम की कथा का वर्णन आचार्य ने किया और बताया कि श्रीराम हमारे आदर्श हैं वे साक्षात धर्म की मूर्ति है , संसार में श्री राम के चरित्र का अनुसरण करना ही चाहिए , व्यक्ति और समाज का जीवन राम के नाम से अनुप्राणित होने से ही हम मर्यादा का पालन कर सकते हैं । एक तारक नाम है ।

श्री कृष्ण का अवतार कर्म और ज्ञान का उपदेश है , इसलिए श्रीराम ने अपने जीवन में जो किया वह सभी करें और श्रीकृष्ण ने जो कहा उसका पालन करें । चौथे दिन की कथा में सभी श्रोताओं ने भगवान श्री कृष्ण के जन्म अवसर पर माखन एवं मिठाईयां बांटकर भजन संकीर्तन के साथ नृत्य और जयकारा करते हुए कथा का आनंद प्राप्त किया ।

Today chhattisgarh news गणेश चतुर्थी के अवसर पर पुलिस ने निकाला फ्लैग मार्च

दिन आयोजक परिवार सहित अनेक नगरों के लोग कथा श्रवण का लाभ प्राप्त कर रहे हैं । आयोजक खरकिया परिवार द्वारा अधिक से अधिक संख्या में कथा श्रवण करने की अपील की गई है ।

Check out other tags:

Most Popular Articles