aajkijandhara

Transfer ट्रांसफर के नाम पर महिला कर्मचारी को अपने पास बुलाने का ऑडियो सोशल मिडिया पर वायरल

(Bhilai Breaking) पहली बार नक्सल क्षेत्र से निकले आदिवासी युवक-युवतियां जाएंगे चंडीगढ़, देखिये Video

(Bhilai Breaking)

रमेश गुप्ता

(Bhilai Breaking) युवकों ने कहा कभी अपना शहर भी नहीं देखा ना ट्रेन में बैठे हैं..

(Bhilai Breaking) भिलाई। कांकेर जिले के धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र के ऐसे युवक और युवतियां जिन्होंने अपना शहर भी नहीं देखा वे अब चंड़ीगढ़ की सैर पर जाएंगे। 14 वें आदिवासी युवा विनिमय कार्यक्रम के तहत बीएसएफ की पहल पर आदिवासी युवक युवतियों का दूसरा जत्था शुक्रवार को चंडीगढ़ के लिए रवाना हुआ।

http://इसे भी पढ़े : https://jandhara24.com/news/125586/another-naxalite-conspiracy-foiled-breaking-15-kg-ied-destroyed/

चंडीगढ़ के युवक युवतियां अपने इस सफर को लेकर काफी उत्साहित दिखे और मीडिया से खुलकर बातें भी की। दरअसल जत्थे को रवाना करने से पहले सीमांत मुख्यालय रिसाली में प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई और इस दौरान सभी युवक युवतियों ने अपने अनुभव साझा किए।

(Bhilai Breaking) उल्लेखनीय है कि नेहरू युवा केन्द्र संगठन, नई दिल्ली (युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार) एवं गृह मंत्रालय के संयुक्त तत्वाधान मे 14 वां आदिवासी युवा विनिमय कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है।

इस कार्यक्रम में कांकेर जिले में तैनात सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के इलाके से इस वर्ष कुल 14 भ्रमण कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे है, जिसमें 290 युवक एवं युवतियों को भारत भ्रमण कराया जाएगा।

(Bhilai Breaking) इसी कड़ी में सीमा सुरक्षा बल सामरिक मुख्यालय छत्तीसगढ़ के महानिरीक्षक इंदराज सिंह ने आज दूसरे जत्थे को रवाना किया। इससे पहले एक जत्था रवाना हो चुका है।

इस जत्थे में 10 लड़कियां एवं 10 लड़कों सहित सीमा सुरक्षा बल के सुरक्षा अधिकारी शामिल हैं। चंडीगढ़ में यह टीम विभिन्न राज्यों के अन्य आदिवासी युवाओं से मिलकर अन्य राज्यों की संस्कृति से रूबरू होगी।

(Bhilai Breaking) इस मौके पर उपमहानिरीक्षक (इंटेलीजेंस) दिनेश मुर्मू ने आदिवासी युवक एवं युवतियों से संवाद किया एवं उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी। इस कार्यक्रम के अंतर्गत आदिवासी युवक एवं युवतियों को उनके उज्ज्वल भविष्य तथा अधिकार के बारे में उचित व उपयुक्त जानकारी प्रदान की जायेगी। साथ ही साथ अन्य राज्यों से भाग लेने वाले युवक-युवतियों के बीच मेल-मिलाप बढ़ेगा।

इसे भी पढ़े : (caste based enumeration in Bihar) बिहार में जाति आधारित गणना : सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाओं पर सुनवाई से किया इनकार

(Bhilai Breaking) जिससे वे एक-दूसरे की खान-पान, रहन-सहन, सांस्कृतिक गतिविधियाँ एवं वेशभूषा से रूबरू होंगे। इस कार्यक्रम में सभी राज्यों के स्थानीय लोक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी जायेगी। साथ ही चंडीगढ़ के प्रसिद्ध दर्शनीय एवं सांस्कृतिक महत्व के स्थलों का भ्रमण कराया जाएगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *