24.2 C
Chhattisgarh

Abujhmad : अबूझमाड़ के ग्रामीणों ने पारंपरिक वेशभूषा में नृत्य करते हुए जल जंगल जमीन को बचाने निकाली कुतुल में रैली

Chhattisgarh NewsAbujhmad : अबूझमाड़ के ग्रामीणों ने पारंपरिक वेशभूषा में नृत्य करते हुए जल जंगल जमीन को बचाने निकाली कुतुल में रैली

Abujhmad : अबूझमाड़ के ग्रामीणों ने पारंपरिक वेशभूषा में नृत्य करते हुए जल जंगल जमीन को बचाने निकाली कुतुल में रैली

Abujhmad : वन संरक्षण अधिनयम 2022 को रद्द करने की मांग

Abujhmad :
Abujhmad : अबूझमाड़ के ग्रामीणों ने पारंपरिक वेशभूषा में नृत्य करते हुए जल जंगल जमीन को बचाने निकाली कुतुल में रैली

Abujhmad : नारायणपुर – नारायणपुर जिले के अबूझमाड़ के ग्रामीणों ने जल जंगल जमीन को बचाने और वन संरक्षण अधिनियम 2022 को रद्द करने की मांग को लेकर कुतुल में सैकड़ों की संख्या में रैली निकाली ।

https://jandhara24.com/news/109790/the-dead-body-of-the-middle-aged-found-in-the-breaking-kachana-pond-sensation-spread-in-the-area/

अबूझमाड़ के आदिवासीयो ने अपनी पारंपरिक वेशभूषा में नृत्य करते हुए जल जंगल जमीन को बचाने और अपनी संस्कृति का निर्वहन करने की अपील सभी ग्रामीणों से की । ग्रामीणों का कहना है कि सरकार वन संरक्षण अधिनियम 2022 को लागू करने से हमसे हमारे जल जंगल जमीन को छीना चाहती है ।

हम अपने जल जंगल जमीन की रक्षा पीढ़ियों से करते आ रहे है और आगे भी करते रहेंगे । इस अधिनियम को रद्द करने के लिए आगे हाईकोर्ट जाना पड़ेगा तो जाएंगे ये जल जंगल जमीन हमारा है । ज्ञात हो कि नारायणपुर जिला मुख्यालय से 45 किलोमीटर दूर घन घोर जंगलों के बीच बसे कुतुल में 6 ग्राम पंचायतों के सैकड़ों ग्रामीणों ने जल जंगल जमीन को बचाने और वन संरक्षण अधिनयम 2022 को रद्द करने की मांग को लेकर शुक्रवार को अबूझमाड़ के वादियों से हुंकार भरी ।

Minister of Education : जिला पंचायत उपाध्यक्ष संजय नेताम के नेतृत्व में स्कूलों की भवन स्वीकृति के लिए शिक्षा मंत्री को ग्रामीणों ने सौंपा ज्ञापन

अबूझमाड़ के ग्रामीणों का कहना है कि पीढ़ियों से जल जंगल जमीन की रक्षा हम करते आए है ये जंगल , पहाड़िया हमारे देवी देवता है जो हमारा भरण पोषण करते है । सरकार अपने नए नियम कानून लागू कर हमसे हमारा अधिकार छिनना चाहते है जो हम होने नही देंगे जिसके लिए अगर हाईकोर्ट भी जाना पड़ा तो जाएंगे ।

Abujhmad :
Abujhmad : अबूझमाड़ के ग्रामीणों ने पारंपरिक वेशभूषा में नृत्य करते हुए जल जंगल जमीन को बचाने निकाली कुतुल में रैली

Check out other tags:

Most Popular Articles