aajkijandhara

Transfer ट्रांसफर के नाम पर महिला कर्मचारी को अपने पास बुलाने का ऑडियो सोशल मिडिया पर वायरल

23 January 2023 : मुख्यमंत्री ने ग्राम पुरैना-खपरी निवासी मजदूर झंगलू देवांगन के घर स्वादिष्ट छत्तीसगढी व्यंजन भोजन का चखा स्वाद

23 January 2023 : मुख्यमंत्री ने ग्राम पुरैना-खपरी निवासी मजदूर झंगलू देवांगन के घर स्वादिष्ट छत्तीसगढी व्यंजन भोजन का चखा स्वाद

23 January 2023 : मुख्यमंत्री ने ग्राम पुरैना-खपरी निवासी मजदूर झंगलू देवांगन के घर स्वादिष्ट छत्तीसगढी व्यंजन भोजन का चखा स्वाद

 

23 January 2023 :खाने में परोसा गया रखिया बड़ी, कुसुम भाजी, जिमिकांदा और चिरपोटी पताल की चटनी

https://www.jandhara24.com/news/139040/where-40-pigs-died-due-to-mysterious-disease/

23 January 2023 :देवांगन परिवार ने घर के मुख्य द्वार पर तिलक-आरती से पुष्प-गुच्छ और श्रीफल भेंट कर मुख्यमंत्री का किया आत्मीय स्वागत

रायपुर, 23 जनवरी 2023

स्वादिष्ट छत्तीसगढी व्यंजन भोजन का चखा स्वाद

खाने में परोसा गया रखिया बड़ी, कुसुम भाजी, जिमिकांदा और चिरपोटी पताल की चटनी

मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल अपने प्रदेशव्यापी भेंट-मुलाकात अभियान के तहत आज बलौदाबाजार विधानसभा अंतर्गत ग्राम पुरैना-खपरी पहुंचे। मुख्यमंत्री ग्राम पुरैना-खपरी में अपने भेंट मुलाकात कार्यक्रम के पहले मजदूर झंगलू देवांगन के आतिथ्य में भोजन के लिए पहुंचे। मुख्यमंत्री का झंगलू देवांगन के परिवारजनों ने घर के मुख्य द्वार पर तिलक-आरती किया और पुष्प-गुच्छ तथा शाल भेंटकर उनका आत्मीय स्वागत किया।

Raipur 23 January 2023 : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भेंट-मुलाकात के लिए रायपुर जिले के बलौदाबाजार -भाटापारा विधानसभा अंतर्गत ग्राम सरोरा हेलीपैड पहुंचे

मुख्यमंत्री ने देवांगन परिवार के सदस्यों द्वारा सादगी के साथ परोसे गए स्वादिष्ट छत्तीसगढ़ी भोजन का स्वाद लिया। देवांगन परिवार ने पूरी आत्मीयता के साथ मुख्यमंत्री को भोजन में चावल, दाल, रोटी के साथ कुसुम भाजी, लाल और सेमी की मिक्स सब्जी, मुनगा, आलू-बड़ी की सब्जी, भांटा, गोभी मटर की सब्जी, जिमी कांदा पापड़, सलाद

और विशेष रुप से चिरपोटी पताल की चटनी भी परोसा। गृह स्वामी झंगलू देवांगन और उनकी पत्नी श्रीमती बेसाखीन बाई मुख्यमंत्री जी के उनके घर आकर भोजन करने पर गदगद हो रहे थे। मुख्यमंत्री ने स्वादिष्ट छत्तीसगढ़ी भोजन के लिए देवांगन एवं उनके परिजनों को उपहार भेंटकर धन्यवाद दिया ।

मुख्यमंत्री को अपने आतिथ्य में परिवार के बीच बैठकर भोजन करता पाकर परिवारजन खुशी से गदगद थे। मुख्यमंत्री को देवांगन ने बताया कि उनके पास केवल 75 डिसमिल कृषि भूमि। मजदूरी से जीवन यापन कर रहे है परिवार में 12 सदस्य हैं उनकी बेटी फुलकुंवर देवांगन मजदूरी कर मां बाप का भरण पोषण करती है

और उनका बड़ा बेटा भागीरथी देवांगन दूसरे गांव में किसानी कर परिवार के भरण पोषण में उनकी सहायता करता है छोटा बेटा रमेश देवांगन राज मिस्त्री का काम करते है।

इस अवसर पर  मुख्यमंत्री के साथ संसदीय सचिव द्वय सुश्री शकुंतला साहू और श्री चंद्र देव प्रसाद राय, पाठ्य पुस्तक निगम के अध्यक्ष शैलेश नितीन त्रिवेदी भी उपस्थित थे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *